अपने दिल को तंदरुस्त बनाने के लिए इन सेहतमंद फूड्स का सेवन करें - Healthy heart

शरीर को काम करने में हर अंग की आवश्यकता पड़ती है इनमें से दिल बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है. यदि हमारा दिल सही ढंग से काम कर रहा है तो शरीर के सभी अंग भी सही तरह से काम करते रहते हैं इसलिए दिल को सलामत एखने के लिए पूरा ध्यान दीजिए. दिल को स्वस्थ रखने में फलों का भी बहुत बड़ा योगदान है इसलिए फलों को नियमित भोजन में शामिल कीजिए परन्तु इसके लिए आपको यह भी जानना जरुरी है कि दिल को तंदरुस्त रखने के लिए कौन - कौन से फलों का उपयोग करें. आइये इस लेख से जाने..


इन सेहतमंद फूड्स से बनाइए अपने दिल को तंदरुस्त-
  • आलू - अगर आलू को डीप फ्राई किए बिना खाया जाए तो ये आपके दिल के लिए अच्छा हो सकता है। आलू में मौजूद पोटेशियम ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है।
  • टमाटर - आलू की तरह टमाटर में भी पोटेशियम की अच्छी मात्रा होती है। इसके साथ-साथ टमाटर में लाइकोपीन नामक तत्व शरीर के कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।
  • ब्लूबेरीज - एक नए अध्ययन में पता चला है कि 25 से 42 साल की उम्र की महिलाएं अगर ब्लूबेरीज का नियमित सेवन करती हैं तो उन्हें दिल की बीमारियों से निजात मिलती है।
  • ओटमील - ओटमील पचने में आसान होते हैं और शरीर के कॉलेस्ट्रॉल को कम करते हैं। दिल की नशों में भी कोलेस्ट्रॉल जमा नहीं हो पाता है और दिल अपना काम बखूबी करता रहता है।
  • किशमिश और अखरोट - किशमिश और अखरोट भी बादाम की तरह शरीर के कॉलेस्ट्रॉल से लड़ने में मदद करते हैं और शरीर के ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखते हैं।
  • खट्टे फल - खट्टे फल जैसे संतरा, मौसमी आदि में विटामिन C की अच्छी मात्रा होती है, जो दिल की बीमारियों से बचाने में मददगार साबित होती है।
  • डार्क चॉकलेट - डार्क चॉकलेट में 60-70 फीसदी कोकोआ होता है। कोकोआ में मौजूद तत्व खून में थक्के नहीं जमने देते हैं और खून के बहाव को गति देते हैं। इससे दिल की बीमारियां नहीं होती हैं
  • बादाम - बादाम में विटामिन E की भरपूर मात्रा होती है। साथ ही इसमें मौजूद फाइबर शरीर के कॉलेस्ट्रॉल से लड़ने में मदद करते हैं।
  • ब्रोकोली और पालक - ब्रोकोली और पालक में मौजूद ढेर सारे विटामिन्स, मिनरल्स और फाइबर शरीर के कॉलेस्ट्रॉल को कम करते हैं और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखते हैं।
  • सोया प्रोडक्ट - सोया प्रोडक्ट शरीर को फैट और कोलेस्ट्रॉल फ्री प्रोटीन देते हैं। इनमें शरीर के लिए जरूरी ढेर सारे विटामिन्स, मिनरल्स और फाइबर होते हैं।

हिंदी कविता - तू अल्हड़ नदिया मैं प्यासा बादल हूं, बादल का क्या - Main pyasa badal hun

दोस्तों आज इन्टरनेट की दुनियां में घूमते हुए मुझे कुछ बहुत ही अच्छी कविताए मिल गई जिन्हें मैंने पढ़ा और जब मुझे पढने पर ये कविताए अच्छी लगी तो सोचा कि मैं इन्हें आपके सामने भी रख दूँ ताकि आप भी इन्हें पढ़ें. इन्हें किसने लिखा है इसके बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं मिल पाई है..


मैं प्यासा बादल हूँ

तू अल्हड़ नदिया मैं प्यासा बादल हूं, बादल का क्या
तू है पूरी एक सदी मैं इक पल हूं, एक पल का क्या
मैं जब भी सर से उतरा तो मैंने नंगी लाश ढकी
जन्मों, जन्मों से मैं मैला आंचल हूं, आंचल का क्या
कच्चे घरों की दहलीजों पर राजकुमार नहीं आते
क्वारे नयनों से मैं बहता काजल हूं, काजल का क्या
इस एहसास से खाली नगर में पंडित, आलिम, ज्ञानी हैं
इनके बीच अकेला मैं ही पागल हूं, पागल का क्या
मैं जगव्यापी, भूख, गरीबी, लाचारी हूं अमर रहूं
अश्वत्थामा की काया में घायल हूं, घायल का क्या।
-------

कुछ बरसाती बादल

गांव की इक-इक शै है बेकल खत में उसने लिखा है
राह तके है बूढ़ा पीपल खत में उसने लिखा है
खेत हैं सूखे, बदरा रूठे, खलिहानों
में धूल ही धूल
भेज दो कुछ बरसाती बादल खत में उसने लिखा है
गूंजे न खेतों में कजली पनघट पर सन्नाटा है
कब होगी चौपाल में हलचल खत में उसने लिखा है
साहूकार से कर्जा लेकर बिटिया ब्याही होरी ने
कुर्क हुए हैं बैल, बिका हल खत में उसने लिखा है
'राज' तुम्हारे शैहर का दामन खूं से तर दिखलाई दे
गांव का है बेदाग यह आंचल खत में उसने लिखा है
------

दो दिलों में था जो अंतर

प्रश्न करिए चाहे जितने मेरा उत्तर है वही
घाट बदले हैं नदी ने पर समंदर है वही
इक सड़क का मील, दूजा देवता मंदिर का है
वो भी पत्थर है यही और ये भी पत्थर है वही
दूरियां कम हो गई हैं, हो गए कम फासले
दो दिलों में था जो अंतर, अब भी अंतर है वही
दोस्त, तेरे-मेरे घर के एक से हालात हैं
जो उदासी तेरे घर में मेरे दर पर है वही
इक जरा से सच ने जिसको 'राज' नंगा कर दिया
झूठ वो ही तेरे अंदर, मेरे अंदर है वही
------

लेखक - अज्ञात

पापा मेरे पास 100 रूपये हैं क्या मैं आपसे आपका एक घंटा खरीद सकता हूँ - Papa ka pyar

एक व्यक्ति आफिस में देर रात तक काम करने के बाद थका-हारा घर पहुंचा. दरवाजा खोलते ही उसने देखा कि उसका छोटा सा बेटा सोने की बजाय उसका इंतज़ार कर रहा है.

 

अन्दर घुसते ही बेटे ने पूछा —“ पापा, क्या मैं आपसे एक प्रश्न पूछ सकता हूँ ?” “ हाँ -हाँ पूछो, क्या पूछना है ?” पिता ने कहा. बेटा – “ पापा, आप एक घंटे में कितना कमा लेते हैं ?” “ इससे तुम्हारा क्या लेना देना …तुम ऐसे बेकार के सवाल क्यों कर रहे हो ?” पिता ने झुंझलाते हुए उत्तर दिया. बेटा – “ मैं बस यूँ ही जाननाचाहता हूँ. प्लीज बताइए कि आप एक घंटे में कितना कमाते हैं ?” पिता ने गुस्से से उसकी तरफ देखते हुए कहा, नहीं बताऊंगा, तुम जाकर सो जाओ “यह सुन बेटा दुखी हो गया …और वह अपने कमरे में चला गया.

व्यक्ति अभी भी गुस्से में था और सोच रहा था कि आखिर उसके बेटे ने ऐसा क्यों पूछा ……पर एक -आध घंटा बीतने के बाद वह थोडा शांत हुआ, फिर वह उठ कर बेटे के कमरे में गया और बोला, “ क्या तुम सो रहे हो ?”, “नहीं ” जवाब आया. “ मैं सोच रहा था कि शायद मैंने बेकार में ही तुम्हे डांट दिया।

दरअसल दिन भर के काम से मैं बहुत थक गया था.” व्यक्ति ने कहा. सारी बेटा “…….मै एक घंटे में 100 रूपया कमा लेता हूँ……. थैंक यूं पापा ” बेटे ने ख़ुशी से बोला और तेजी से उठकर अपनी अलमारी की तरफ गया, वहां से उसने अपने गोल्लक तोड़े और ढेर सारे सिक्के निकाले और धीरे -धीरे उन्हें गिनने लगा. “ पापा मेरे पास 100 रूपये हैं. क्या मैं आपसे आपका एक घंटा खरीद सकता हूँ ? प्लीज आप ये पैसे ले लोजिये और कल घर जल्दी आ जाइये, मैं आपके साथ बैठकर खाना खाना चाहता हूँ.”

दोस्तों, इस तेज रफ़्तार जीवन में हम कई बार खुद को इतना व्यस्त कर लेते हैं कि उन लोगो के लिए ही समय नहीं निकाल पाते जो हमारे जीवन में सबसे ज्यादा अहमयित रखते हैं. इसलिए हमें ध्यान रखना होगा कि इस आपा-धापी भरी जिंदगी में भी हम अपने माँ-बाप, जीवन साथी, बच्चों और अभिन्न मित्रों के लिए समय निकालें, वरना एक दिन हमें अहसास होगा कि हमने छोटी-मोटी चीजें पाने के लिए कुछ बहुत बड़ा खो दिया…

यदि आप हर समय ब्रा पहनती है तो हो सकते है ये कई नुकसान - Bra pahnne ke nukshan

लड़कियों की खूबसूरती में चार चाँद लगाने में ब्रैस्ट का एक अहम रोल होता है। ब्रा ब्रैस्ट की सुरक्षा के लिए ही पहनी जाती है क्योंकि बिना ब्रा पहने ब्रैस्ट लूज होने की सम्भावना रहती है इसीलिए महिलाएं ब्रा पहनती है परन्तु यदि आप ब्रा को पूरा समय पहने रहती है तो आपको इससे नुकसान भी हो सकते है। 


आज हम इस आर्टिकल में ज्यादा समय तक ब्रा पहनने से होने वाले नुकशान पर ही चर्चा करेंगें और आपको सलाह देते है कि रात में सोते समय ब्रा ना पहने। दिन में ब्रा पहने और रात में सोते समय इसे उतार दें।

आइये जानते है ब्रा हर समय क्यों नहीं पहननी चाहिए:-
  1. बिना ब्रा के सोने से बॉडी कंफर्टेबल रहती है और ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है।
  2. इलास्टिक और हुक के कारण अक्सर गर्मियों में रैशेज हो जाते हैं। बिना ब्रा के सोने पर इनसे मुक्ति मिलती है।
  3. लगातार ब्रा पहने रहने से शॉल्डर पर स्ट्रेप मार्क बन जाते हैं। इससे ऑफ शॉल्डर ड्रेस पहनने में दिक्कत होती है।
  4. ब्रा पहनकर सोने से स्किन बंधी रहती है, इससे होने वाली असहजता से नींद टूटती है और सुबह थकान बनी रहती है। नींद पूरी न होने से डार्क सर्कल की दिक्कत हो जाती है।
  5. ब्रा न पहनकर सोने से त्वचा खुलकर सांस ले पाती है। जिससे स्किन का ग्लो बढ़ता है।

जूतों में होने वाली बदबू मिटाने के लिए अपनाये ये आसान तरिके - Juton ki badbu aise mitayen

दोस्तों वैसे तो जूते ज्यादातर सर्दियों में ही पहने जाते है। गर्मी के मौसम में ज्यादातर लोग स्लीपर और सैंडल पहनना ही पसंद करते है, परन्तु नौकरी पेशा वाले या फिर कहीं किसी फंक्शन में जाने वाले को जूते पहनने भी पड़ जाते है।


आपको मालूम है कि गर्मी के मौसम में जूतों से बहुत बदबू आने लगती है और यदि हम कहीं गए हुए है और हमें वहां किसी कारण से अपने जुते निकालने पड़ जाएँ तो और हमारे जूते बदबू छोड़ने लगे तो ऐसे में हमारा क्या हाल हो सकता है इस बात को शायद आप भी अच्छे से समझ सकते है. इसलिए जूते पहनने पड़ जाएँ तो सावधानियों का भी विशेष ध्यान रखना जरुरी हैं।

पैरों से बदबू बैक्टीरिया के कारण ही आती हैं और जिन लोगों को अधिक पसीना आता है, उनके जूतों से बदबू आना एक सामान्य बात है।

आइये आज मालूम कर लेते है जूतों की बदबू से बचने के उपाय:-
  1. नमी - बाहर से लौटने के बाद जूते में पेपर बॉल या फिर पेपर भर दें। अखबार अंदर की सारी नमी सोख लेता है जिससे बैक्टीरिया पनप नहीं पाते हैं।
  2. पसीना - अपने जूतों के भीतर मेडिकेटेड इन-सोल लगाएं। इससे पसीना जल्दी सूख जाएगा और बैक्टीरिया पनपने की आशंका भी कम हो जाएगी।
  3. दो जोड़े जूते - संभव हो तो दो जोड़े जूते रखें और उन्हें बदल-बदलकर पहनें। हर रोज एक ही जूता पहनने से परहेज ही करें। ऐसा करने से जूतों की नमी सूख जाएगी और बदबू पैदा नहीं होगी।
  4. बेकिंग पाउडर - जूतों में बेकिंग पाउडर डालकर छोड़ दें। इससे नमी भी सूख जाएगी और बदबू भी नहीं आएगी।
  5. धुप - रोजाना अपने जूतों को थोड़ी देर के लिए धुप में रखें, जिससे आपके पसीने की बदबू दूर हो जाये। इसके अलावा सप्ताह में या 15 दिन में अपने जूतों को धो ले।

हर लड़की शारीरिक संबंधों के बारे में सोचती है ये बातें - Shadi ke baad kya hoga

शादी करना सिर्फ लड़कों का ही नहीं बल्कि हर लड़की का भी सपना होता है। हर लड़की अपनी शादी के बारे में अपने दिल में कई ख्वाब सजाए हुए होती है और शादी को लेकर बहुत खुश भी होती है। शादी होने के बाद शारीरिक संबंध उसकी जिंदगी का हिस्सा बन जाते हैं।

 

कुछ लड़कियां ऐसी भी होती है जो शारीरिक संबंध से जुड़ी बातें जानकर घबराने लगती है और शादी से पहले ही शादी के बाद के शारीरिक संबंधों के बारे में उनके दिमाग में बहुत से ख्याल आने लगते हैं और यदि उसने किसी से इस बारे में कुछ बातें की तो सामने वाला गलत ना समझने लगे यह सोचकर लड़की किसी के साथ इन बातों को शेयर भी नहीं करती है। आइये इस बारे में कुछ बातें करते है.

हर लड़की को आते है शारीरिक संबंधों से जुड़े ये ख्याल:-
  1. पार्टनर भावनाओ को समझेगा या नहीं - कुछ लड़कियां इस बात को लेकर भी घबरा जाती हैं कि न जाने उनके पार्टनर का व्यवहार शारीरिक संबंधों को लेकर कैसा होगा। वो उसकी भावनाओं को समझ भी पाएगा या नहीं। 
  2. पार्टनर को कैसे कहूंगी - शादी की थकावट के बाद लड़की के दिमाग में यह बात आती है कि वह शारीरिक संबंधों के बारे में पार्टनर से न कहेगी तो यह अच्छा होगा या नहीं। 
  3. सहेलियों की कही बातों का डर - लड़कियां अपनी सहेली की शादी पर अक्सर पहली रात से जुड़ी बातें करते दुल्हन को डरा देती हैं। अपनी सहेलियों की उल्टी-सीधी बातें उसके दिमाग में घूमती रहती हैं। 
  4. रस्मों का विचार - लड़की के मन में इस तरह के विचार अक्सर चलते हैं कि पता नहीं नए परिवार में किस तरह की रस्में रिवाज अपनाएं जाते हैं। वह इनका अच्छे से पालन कर पाएंगी या नहीं। 
  5. फिल्मी दुनिया के ख्वाब - लड़किया सुहागरात के बारे में दिल में यह ख्याल बनाएं बैठी रहती हैं कि शायद सब कुछ फिल्मी दुनिया की तरह ही होगा। फूलों से सजा कमरा खूबसूरत और रोमांटिक माहौल।

आइये जानते है देश और दुनिया में 25 मई को होने वाली महत्त्वपूर्ण घटनाएँ - Ghatnayen

जैसा की आप जानते है कि हर दिन कोई ना कोई घटना होती ही रहती है परन्तु कुछ घटनाएँ ऐसी भी होती है महत्वपूर्ण बन है. यूँ तो सभी घटनाओं को एक पेज पर वर्णित करना बहुत मुश्किल है परन्तु यदि दिन अनुसार हम उनकी जानकारी लें तो हम इन महत्त्वपूर्ण घटनाओं को एक पृष्ठ पर लिख सकते है. आइये आज हम आज की तारीख यानि 25 मई को बीते सालों में क्यां महत्वपूर्ण हुआ है इसकी कुछ जानकारी लेने की कोशिश करते हैं.


देश और दुनिया में 25 मई को होने वाली महत्त्वपूर्ण घटनाएँ इस प्रकार है:-

1961 - अमरीका के राष्ट्रपति जॉन एफ़ केनेडी ने अंतरिक्ष अभियान की शुरुआत के लिए लाखों डॉलर की राशि की घोषणा की थी।

1963 - अफ़्रीकी इतिहास में पहली बार 25 मई 1963 को 32 अफ़्रीकी देशों ने एक संगठन बनाया जिसका मक़सद था अफ़्रीकी देशों को एकजुट करना।

1985 - बांग्‍लादेश में आए तूफान में 10 हजार लोग मारे गए थे।

1995 - अमेरिकी वैज्ञानिकों को पहली बार जीवित जीव के डी.एन.ए. को डीकोड करने में सफलता मिली।

2008 - अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा के द्वारा भेजा गया एक रोबोट मंगल ग्रह पर आज ही के दिन पहुंचा था।

2003 - चिली ने पहली बार विश्व कप टेनिस ख़िताब जीता।

2007 - श्रीलंका की सरकार ने तमिल शरणार्थियों की नागरिकता पर सैद्धांतिक अनुमति दी।

2011 - में अमेरिका के मशहूर शो ओपरा विन्‍फ्रे ने 25 साल पूरे होने के बाद आज ही के दिन अलविदा कह दिया। इस हिट शो का नाम प्रोग्राम की एंकर ओपरा विन्‍फ्रे के नाम पर रखा गया था।

25 मई को जन्मे व्यक्ति -
1831 - दाग़ देहलवी - प्रसिद्ध उर्दू शायर।

1886- रास बिहारी बोस- प्रख्यात वकील और शिक्षाविद

25 मई को हुए निधन - 

2005- सुनील दत्त - हिन्दी फ़िल्म अभिनेता एवं राजनीतिज्ञ

2010- तपन चट्टोपाध्यय, बांग्ला अभिनेता

© Copyright 2013-2016 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM