जीवन का सब भार तुम्हारे हाथों में - Jeevan ka sab bhar tumhare haatho me

प्रिय दोस्त इस पोस्ट पर आप "जीवन का सब भार तुम्हारे हाथों में" नामक प्रार्थना पढ़ सकते हो. इन्सान सिर्फ लोभ, लालच, धन और मोह में फसकर भगवान से दूर होता जा रहा है. लेकिन जिस मालिक ने हमें बनाया है उसका सिमरन करना भी बहुत जरुरी है.

प्रार्थना - ऐ मालिक तेरे बंदे हम - Prarthna - A malik tere bande hum

प्रिय दोस्त इस पोस्ट पर आप "ऐ मालिक तेरे बंदे हम" नामक प्रार्थना पढ़ सकते हो. इन्सान सिर्फ लोभ, लालच, धन और मोह में फसकर भगवान से दूर होता जा रहा है. लेकिन जिस मालिक ने हमें बनाया है उसका सिमरन करना भी बहुत जरुरी है.

इतनी शक्ती हमे देना दाता - Itani shakti hamen dena data

प्रिय दोस्त इस पोस्ट पर आप "इतनी शक्ती हमे देना दाता" नामक प्रार्थना पढ़ सकते हो. इन्सान सिर्फ लोभ, लालच, धन और मोह में फसकर भगवान से दूर होता जा रहा है. लेकिन जिस मालिक ने हमें बनाया है उसका सिमरन करना भी बहुत जरुरी है.

दान भक्ति का हमें परमात्मा देना - Daan bhakti ka humen parmatma dena

प्रिय दोस्त इस पोस्ट पर आप "दान भक्ति का हमें परमात्मा देना" नामक प्रार्थना पढ़ सकते हो. इन्सान सिर्फ लोभ, लालच, धन और मोह में फसकर भगवान से दूर होता जा रहा है. लेकिन जिस मालिक ने हमें बनाया है उसका सिमरन करना भी बहुत जरुरी है.

हमको मन की शक्ति देना - Hum ko man ki shakti dena

प्रिय दोस्त इस पोस्ट पर आप "हमको मन की शक्ति देना" नामक प्रार्थना पढ़ सकते हो. इन्सान सिर्फ लोभ, लालच, धन और मोह में फसकर भगवान से दूर होता जा रहा है. लेकिन जिस मालिक ने हमें बनाया है उसका सिमरन करना भी बहुत जरुरी है.

निज जीवन सफल बना जाएँ - Nij jivan safal banaa jayen

प्रिय दोस्त इस पोस्ट पर आप "निज जीवन सफल बना जाएँ" नामक प्रार्थना पढ़ सकते हो. इन्सान सिर्फ लोभ, लालच, धन और मोह में फसकर भगवान से दूर होता जा रहा है. लेकिन जिस मालिक ने हमें बनाया है उसका सिमरन करना भी बहुत जरुरी है.