शाकाहारी बने, स्वस्थ रहें Shakahari bane svasth rahen

Shakahari bane, svasth rahen. शाकाहारी बने, स्वस्थ रहें। Become a vegetarian, stay healthy.

प्रिय दोस्त, यदि आप शाकाहारी नहीं है तो ये पोस्ट आपको अवश्य पढ़ लेना चाहिए. आज हम इस पोस्ट में आपको शाकाहारी होने के फायदे बताने जा रहे है. इस पोस्ट को पूरा पढ़ें और Like और Share जरुर करें. मनुष्य के शरीर की रचना एवं शरीर के विभिन्न अंग जैसे मुंह, दाँत, हाथों की अंगुलियाँ, नाख़ून एवं पाचन तंत्र की बनावट के अनुसार वह एक शाकाहारी प्राणी है इस बात की पुष्टि वैज्ञानिकों एवं चिकित्सा शास्त्रियों ने विभिन्न प्रकार के अनुसंधानों से कर दी है।


मनुष्य का शरीर, शरीर के विभिन्न अंग एवं पाचन प्रणाली मांसाहारी प्राणियों जैसी नहीं है। भारत के ही नहीं, अपितु दुनिया के सारे विद्वान यह मानने लगे है कि शाकाहार ही मनुष्य की प्रकृति और उसके शरीर तंत्र की अन्दुरुनी एवं बाहरी संरचना के सर्वथा अनुकूल है। 


आज के इस तनाव भरी आर्थिक और विषम सामाजिक परिस्थितियों के बीच जी रहा मनुष्य यही चाहता है कि वह किसी भी प्रकार के शारीरिक व मानसिक दुःख से पीड़ित न हो। स्वास्थ्य का सम्बन्ध शरीर से है और प्रत्येक व्यक्ति तन और मन दोनों से स्वथ्य रहना चाहता है।

ईश्वर ने मनुष्य को सर्वगुण सम्पन्न शरीर प्रदान किया है सामान्य रूप से यह शरीर सौ वर्ष तक या उससे अधिक भी स्वस्थ रह सकता है परन्तु स्वस्थ रहने और लम्बी आयु के लिए आवश्यक है की वह बचपन से ही संयमित और सात्विक जीवनचर्या का पालन करें। मनुष्य अपने आचार-विचार और आहार की पवित्रता से ही अपने इस मानव जीवन का सदुपयोग करते हुए भरपूर आनन्द उठा सकता है

आज दुनिया के बड़े-बड़े देश शाकाहार अपना रहे है सर्वेक्षण के अनुसार शाकाहार अपनाने के पीछे 34 फीसदी लोगो का मानना है कि वे इसे अनैतिक मानते हुए शाकाहारी बने है 12 फीसदी धार्मिक कारणों से, तो 6 फीसदी अपने परिजनों और दोस्तों की वजह से शाकाहारी बने है शाकाहार अब एक अभियान बनता जा रहा है

शाकाहार में भोजन तंतु प्रयाप्त मात्रा में होते है भोजन तंतुओं की प्रयाप्तता से पाचन तंत्र की क्रिया प्रणाली सही तरीके से संचालित होती है शाकाहार से व्यक्ति कब्ज़, कोलाइटिस, बवासीर जैसी बिमारियों से काफी हद तक बचा रहता है शाकाहार से आँतों के कैंसर की सम्भावना भी कम हो जाती हैशाकाहार में सभी पोषक तत्व, प्रोटीन, विटामिन, खनिज लवण उचित अनुपात में होते है
 
विश्व प्रसिद्ध वैज्ञानिक व विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अब यह सिद्ध कर दिया है कि भीषण बीमारियों जैसे कैंसर, ह्रदय रोग आदि को शाकाहार द्वारा काफी हद तक कम किया जा सकता है शाकाहारी भोजन में वसा अपने उचित अनुपात में होती है अर्थात बहुत ज्यादा भी नहीं और बहुत कम भी नहीं। परन्तु मांसाहारी भोजन में वसा प्रचुर होती है, जिसके कारण ह्रदय रोग की सम्भावना बढ़ जाती है वसा की अधिकता से रक्त में कोलेस्ट्रोल का स्तर बढ़ जाता है

कोलेस्ट्रोल से रुधिर नलिकाएं तंग हो जाती है और धीरे-धीरे बंद हो जाती है जिससे हृदय को रक्त आपूर्ति करने वाली धमनियों में रक्त प्रवाह में अवरोध उत्पन्न होता है यह हार्ट अटैक का एक प्रमुख कारण है। डॉक्टरों का कहना है की ह्रदय रोगों से बचने के लिए मनुष्य को मांसाहार का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए। अतः शाकाहार को अपनाएं जीवन स्वस्थ बनायें।

MHB2013

एक टिप्पणी भेजें