रसोई गैस का सुरक्षित प्रयोग Rasoi gas ka surkshit pryog

Rasoi gas ka surkshit pryog kaise karen? रसोई गैस का सुरक्षित प्रयोग कैसे करें? How to use LPG safely?

रसोई गैस ऐसा एक संसाधन है जो हमारे लिए जितना आवश्यक है, लापरवाही बरतने पर उतना ही खतरनाक है।

एलपीजी क्‍या है?

तरल पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) ब्‍यूटेन और प्रोपेन हाइड्रोकार्बनों का एक मिश्रण है। आइसो-ब्‍यूटेन, ब्‍यूटीलीन, एन-ब्‍यूटेन, प्रोपीलीन आदि तत्‍व भी मौजूद हैं। इन्‍हें दाबानुकुलित सिलेंडर में भरकर उपयोग किया जाता है।


एलपीजी का उपयोग:-

एलपीजी का उपयोग खाना पकाने वाले ईंधन के रूप में किया जाता है। एलपीजी को विभिन्‍न औद्योगिक और व्‍यापारिक संस्‍थानों में भी प्रयोग किया जाता है। एलपीजी सिलेंडर का वजन 5 किलोग्राम और घरेलू प्रयोग के लिए 14.2 किलोग्राम तथा औद्योगिक और व्‍यापारिक प्रयोग के लिए 19 किलोग्राम और 47.5 किलोग्राम है कुछ निजी कंपनियां घरेलू प्रयोग के लिए 12 किलोग्राम के सिलेंडर भी बेचती हैं।

घरेलू एलपीजी कनेक्शन लेने का तरीका:-

घरेलू कनेक्शन लेने के लिए घरेलू एलपीजी सिलेंडर उपलब्‍ध करवाने वाली किसी भी कंपनी के विक्रेता से संपर्क किया जाना चाहिए। समीप के विक्रेता के विषय में जानने के लिए उस कंपनी की वेबसाइट पर देखें।

भारत में घरेलू प्रयोग के लिए सिलेंडर उपलब्‍ध करवाने वाली कंपनियां:-

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमि‍टेड http://www.iocl.com
भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड http://www.ebharatgas.com
हिंदुस्‍तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड http://www.hindustanpetroleum.com
श्री शक्‍ति एलपीजी लिमिटेड http://www.shrishakti.com
एसएचवी एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड www.supergas.com

एलपीजी लगाते हुए ध्‍यान रखें:-
  • गैस सिलेंडर हवादार जगह पर रखें। ऐसे कमरे में प्रयोग न‍हीं करना चाहिए जहां पर खिड़की या दरवाजे बंद हों।
  • गैस को ऐसी जगह लगाना चाहिए जहां से सिलेंडर, प्रेशर रेग्‍यूलेटर का नॉब और रबर की ट्यूब आसानी से हिलडुल सके। सिलेंडर को हमेशा सीधा खड़ा रखना चाहिए। उसका वॉल्‍व ऊपर की ओर होना चाहिए। यदि सिलेंडर को किसी ओर तरह से लगाया जाएगा तो तरल एलपीजी वॉल्‍व से बाहर आ सकती है और दुर्घटना घट सकती है।
  • सिलेंडर को जमीन की सतह पर ही लगाया जाना चाहिए न कि जमीन से नीचे या भूमिगत जगहों पर।
  • यदि सिलेंडर को कबर्ड में रखा गया है तो ध्‍यान रखें कि वे कबर्ड हवादार हों। तली और ऊपरी स्‍थानों से हवा की आवाजाही होनी चाहिए।
  • लकड़ी की सतह वाली मेज का प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए।
  • गैस उपकरण के आसपास इलेक्‍ट्रिक ओवन, केरोसिन स्‍टोव आदि उपकरण नहीं रखे जाने चाहिए।
  • सिलेंडर को धूप, बारिश, धूल और गर्मी से बचा कर रखना चाहिए।
  • खाली या भरे हुए सिलेंडर को खुले हुए वॉल्‍व के साथ नहीं रखना चाहिए। उस पर सिक्‍योरिटी कैप लगा कर रखना चाहिए।
उपभोक्‍ताओं के लिए सामान्‍य सुरक्षा सुझाव?
  • रबड़ ट्यूब और रेग्‍यूलेटर आईएसआई/बीआईएस मार्क स्‍वीकृत होने चाहिए। बीआईएस स्‍वीकृत रबड़ ट्यूब और एलपीजी रेग्‍यूलेटर को पंजीकृत विक्रेता से ही खरीदें।
  • हर दो साल के अंतराल पर ट्यूब को बदलें।
  • प्रेशर रेग्‍यूलेटर भी काफी महत्‍वपूर्ण है। यह सिलिंडर वॉल्‍व के आउटलेट से जुड़ा होता है। इसका काम सिलिंडर से स्‍टोव तक जाने वाली गैस की दबाव को नियंत्रित करना होता है।
  • जब गैस का प्रयोग न किया जा र‍हा हो तो रेग्‍यूलेटर के नॉब को 'ऑफ' (बंद) रखना चाहिए।

गैस सिलेंडर लेते समय ध्‍यान रखने योग्‍य तथ्‍य:-
  • जांच लें कि सिलेंडर पर कंपनी सील और सेफ्टी कैप सही अवस्‍था में हो।
  • यदि उसे प्रयोग करना नहीं जानते तो डिलीवरी वाले व्‍यक्ति को कहें कि वह उसे प्रयोग करने की विधि समझाए।
यदि गैस की गंध आए तो क्‍या करना चाहिए?
  • यदि गैस की गंध आए तो, घबराएं नहीं।
  • बिजली के स्विचों का प्रयोग न करें। बिजली के मुख्‍य स्विच को बाहर से बंद कर दें।
  • सुनिश्चित करें कि स्‍टोव के नॉब ऑफ की स्थिति में हों।
  • एलपीजी के रिसाव की जांच करने के लिए भी माचिस की तीली न जलाएं। सभी प्रकार की आंच, लैंप, अगरबत्‍ती आदि को बुझा दें।
  • सभी खिड़की और दरवाजे खोल दें।
  • यदि गंध आनी बंद नहीं होती तो कार्यालय के समय में अपने गैस विक्रेता से संपर्क करें। अवकाश के समय कृपया पास के आपाताकालीन सेवा केंद्र से संपर्क करें।
  • रेग्‍यूलेटर को सावधानी से हटा कर वॉल्‍व पर सेफ्टी कैप लगा दे।

एक टिप्पणी भेजें