गुड मॉर्निंग शब्द के मायने - Good morning shabd ke mayne

मई 28, 2014
Good morning sense of the term. गुड मॉर्निंग शब्द के मायने - Good morning shabd ke mayne.

पाश्चात्य संस्कृति में सुबह उठने या सुबह काम पर पहुंचने के बाद गुड मॉर्निंग कहने की प्रथा है। उसके बाद जैसे-जैसे दिन बढ़ता जाता है उसी के अनुरूप गुड डे, गुड आफ्टरनून या गुड इवनिंग आदि कहा जाता है।

  • गुड मॉर्निंग की शुरुआत होती है सुबह उठने के साथ। यह दिन का आरंभ होता है। इसमें एक ताजगी और नयापन होता है। नया सूरज, नई रोशनी, नई हवा और इसमें घुली होती है ताजा खिले फूलों की महक।
  • इस नई ऊष्मा में भरा होता है नया उत्साह और कुछ नया, कुछ अनोखा करने का जोश। गुड मॉर्निंग इस परिवेश का प्रतीक है।
  • यह प्रतीक है नई उम्मीदों का। गुड मॉर्निंग कहने का अर्थ है उस परिवेश की सृष्टि और उससे एकाकार हो जाना।
  • गुड मॉर्निंग का अर्थ है शबनम में नहाए, गमकते गुलाब-सा चेहरा, मन-मस्तिष्क और दिल की ताजगी।
  • जब हम गुड आफ्टरनून कहते हैं तो इसका सीधा-सा अर्थ है कि हमारे दिन का ताजगी भरा हिस्सा गुजर चुका है। यह अहसास कुछ शिथिलता देने वाला है।
  • गुड इवनिंग का संबोधन थकान और भारीपन का संदेश देता लगता है। यह हमारे उस उत्साह में विघ्न पैदा करने वाला है जो गुड मॉर्निंग के साथ प्रारंभ हुआ था।
  • जब हम दोपहर या शाम को अभिवादन कहते हैं तो हमारी मनोदशा एकदम अलग हो जाती है। यह शब्द सुबह वाली ताजगी और नएपन का अहसास करा देता है। लगता है, दोबारा सुबह या नए दिन का प्रारंभ हो रहा है।
  • दरअसल, जीवन में नएपन और ताजगी को बनाए रखना ही आगे बढ़ने का सही रास्ता है।
  • वैसे भी देखा जाए तो हर क्षण एक नई शुरुआत का ही सृजन और प्रारंभ करता है। जब कोई बच्चा जन्म लेता है तो उसी क्षण से उसके नए जीवन, नए युग का प्रारंभ होता है। उसके जीवन के प्रारंभ काल की स्वर्णिम वेला को कैसे दोपहर, शाम या रात्रि कहा जा सकता है।
  • जब एक नवजात शिशु के लिए कोई भी क्षण नया अर्थात प्रातः काल है तो हम सब के लिए क्यों नहीं? गुड मॉर्निंग शब्द का अहसास थकान, निद्रा और अनुत्साह की अवस्था में मुख पर पड़े शीतल जल के छींटों के समान नई ताजगी पहुंचाने वाला है। (सीताराम गुप्ता)

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »
loading...


Free App to Make Money




Free recharge app for mobile
Click here to download