बीमार की मदद करें - Bimar ki madad karen.

यदि आपके आस - पड़ोस, गली - मोहल्ले या कहीं भी कोई बीमार है।


और वह हस्पताल पहुचने में असमर्थ है हो सकता है उसकी सम्भाल करने वाला कोई भी ना हो। तो उस बीमार को हस्पताल पहुचाने में मदद करें। इससे आपको मदद करने का मौका भी मिलेगा और उसकी जान भी बच जाएगी। वो आपको सारी उम्र दुआए देगा।

दुआ से बड़ा कुछ नहीं होता। इसलिए हमेशा ऐसे काम करें जिनसे आपको लोगो की दुआए मिले। 

एक टिप्पणी भेजें