Breaking News
recent
Click here to download
loading...

चुगलखोर से सावधान Chugalkhor se savadhan

चुगली करना, इधर – उधर की बात फैलाना, द्वेष पैदा करना, बहुत बड़ा पाप है। इसके बारे में ये पोस्ट पढिये।


एक नौकर मुसलमान के यहाँ रहने के लिए गया। रहने से पहले उसने कह दिया की मेरी इधर – उधर करने की आदत है। मियां ने सीचा की कोई परवाह नहीं, और रख लिया। एक दिन वह रोने लगा। मियां की बीबी ने पूछ लिया – क्यों रो रहा है।

नौकर बोला – आपके घर में रहता हूँ। तनखा पाता हूँ, जिससे मेरा काम चलता है आपके हित की बात कहने के मन में आती है, पर क्या पता आप माने या ना माने, दुःख होता है।

बीबी ने कहा – बता तो बात क्या है।

नौकर बोला – मिया साहब तो दूसरी शादी करना चाहते है, आप पर आफत आ जाएगी।

बीबी ने पूछा – इसका कोई इलाज है।

नौकर बोला – हाँ अभी तो है, मियां की दाढ़ी के कुछ केश ले आओ तो मैं उसका ताबीज बना दूंगा। फिर सब ठीक हो जाएगा।

नौकर उसे यह कहकर चला गया। तभी उसकी नजर घर आते हुए मियां पर पड़ी। वह झट से मियां के पास गया और बोला – मियां जी आपकी बीबी आपको मरना चाहती है, मुझसे कहती है, लेकिन यदि आपको कुछ हो गया तो मैं कहा जाऊंगा, मेरा घर तो आपके सहारे पर चलता है। अपना ख्याल रखना।

अब मिया को भी डर हो गया, की कहीं उसकी बीबी उसे मार ना दें। वह नींद का बहाना बनाकर लेट गया। तभी उसकी बीबी दाढ़ी के केश काटने के लिए छुरा लेकर आई। जैसे ही वह उसके नजदीक आई, मियां झट से खड़ा हो गया और अपनी बीबी से झगड़ने लगा। उसकी बीबी ने कहा की वह उसकी दाढ़ी के केश लेना चाहती है लेकिन मियां उसे कहने लगा की तुम मेरा गला काटना चाहती थी। इस तरह दोनों में काफी कलह हुआ।

इसी लिए कहा गया है:-

चुगलखोर से बात ना करना, खड़े ना होना पास।
मियां  बीबी  दोनों  मरे,  भयो  कुटुम्ब  को  नास।।

कोई टिप्पणी नहीं:

loading...


Free App to Make Money




Free recharge app for mobile
Click here to download
Blogger द्वारा संचालित.