17/09/2014

श्री रामचन्द्र जी की आरती - Shree Ramchander Ji ki aarti

loading...

श्री रामचन्द्र जी की आरती, Shree Ramchander Ji ki aarti.
प्रिय मित्र, सनातन संस्कृति में पूजा का अपना एक अलग महत्व है, अब आप इन्टरनेट पर भी आरती पढ़ सकते हैं. इस पोस्ट पर आप श्री रामचन्द्र जी की आरती पढ़ सकते हो.


 जगमग जगमग जोत जली है । राम आरती होन लगी है ।।
भक्ति का दीपक प्रेम की बाती । आरति संत करें दिन राती ।।
आनन्द की सरिता उभरी है । जगमग जगमग जोत जली है ।।
कनक सिंघासन सिया समेता । बैठहिं राम होइ चित चेता ।।
वाम भाग में जनक लली है । जगमग जगमग जोत जली है ।।
आरति हनुमत के मन भावै । राम कथा नित शंकर गावै ।।
सन्तों की ये भीड़ लगी है । जगमग जगमग जोत जली है ।।

श्री रामचन्द्र जी की आरती - Shree Ramchander Ji ki aarti Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Satish Kumar

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें