नेत्रदान करना क्यों जरूरी है Netardaan karna kyo jaruri hai

नेत्रदान करना क्यों जरूरी है Netardaan karna kyo jaruri hai, Why is important the eye donation.
वो लोग जो नेत्रहीन है अपनी जिंदगी कैसे बसर करते होंगे?


अगर आप ये जानना चाहते हो तो थोड़ी देर अपनी आँखे बंद करके काम करने की कोशिश करें. आपको पता चल जाएगा की बिना आँख काम करना कैसा होता है।  “नेत्रदान महादान” क्या कभी सोचा है की लोग ऐसा क्यों बोलते है? इसका कारण सीधा- सीधा है की वो लोग जिन्होंने आज तक दुनिया नहीं देखी है वो आपकी आँखों के ज़रिये दुनिया देख सकें। 

कई लोगों के मन ने यह वहम रहता है, उन्हें नेत्रदान का मतलब ही नहीं पता होता। लोग सोचतें है की नेत्रदान मतलब आपके जीवित रहते आँखों को निकाला जाता है और दूसरों को दे दिया जाता है। लेकिन यह गलत धारणा है, नेत्रदान मतलब यह की आप किसी भी नेत्रदान केंद्र या नेत्र बैंक में जा कर रजिस्टर करवाए और जब कभी आपकी मृत्यु हो तो आपकी आँखे किसी और के काम आ सकें।

नेत्रदान एक क़ानूनी कार्य है जिसके लिए आय बैंक में आपको रजिस्टर करना पड़ता है और ऑय बैंक इसके बदले में आपको एक कार्ड देता है। यह कार्ड आपके नेत्रदान का साबुत होता है। अगर आपको कुछ हो जाता है, तो आपके दोस्त या परिवार बैंक से संपर्क कर सकतें है और बैंक द्वारा निर्धारित डॉक्टरों की टीम मृत शरीर से नेत्र को निकाल लेती है।

1comments:

बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा - शनिवार- 18/10/2014 को नेत्रदान करना क्यों जरूरी है
हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः35
पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया आप भी पधारें,

Reply

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM