Header Ads

Breaking News

Ads

जानिए अपने बच्चों को इंटेलीजेंट कैसे बनाए - Janiye apne bachcho ko Intelligent kaise banaye

वैज्ञानिक कहते हैं कि बच्चों के जीवन के पहले 10 साल 'विंडो ऑफ अपॉर्च्यूनिटी' होते हैं। इसी समय उनके दिमाग में ज्यादातर न्यूरॉन नेटवर्क बनते हैं। इस समय जो सीखा, वह जीवन भर काम आएगा। यही समय बच्चों को स्मार्ट बनाने का होता है।

बच्चों को इंटेलीजेंट बनाने में उपयोगी है -
  • बच्चों के मानसिक विकास के लिए संगीत सबसे जरूरी चीजों से एक है, यह न केवल बच्चों का मूड अच्छा करता है, बल्कि उनके अंदर उत्साह भी पैदा करता है। यह मानसिक विकास के लिए बेहद जरूरी है।
  • बच्चों के लिए ब्रेकफास्ट बेहद जरूरी है। इससे उनका मानसिक विकास तेजी से होता है। दरअसल, बच्चों के दिमाग को ग्लूकोज, आयरन, विटामिन ए, विटामिन बी, जिंक और फॉलिक एसिड जैसे न्यूट्रियंट्स के बैलेंस की आवश्यकता होती है।
  • यदि आप अपने बच्चे को कामयाब और अच्छा इंसान बनाना चाहते हैं, तो उसकी रीडिंग हैबिट को हमेशा बढ़ाएं। जिन बच्चों की रीडिंग स्किल्स अच्छी होती है, वे राइटिंग और नंबर्स स्किल भी अच्छी कर लेते हैं। रीडिंग से बच्चों को समाज को समझने का मौका मिलता है।
  • वीडियो गेम्स बच्चों को आक्रामक बना रहे हैं, लेकिन बच्चे यदि रोजाना एक घंटा वीडियो गेम खेलें, तो उनमें कई स्किल्स डेवलप होती हैं। यह उनके शारीरिक विकास से लेकर मानसिक विकास तक के लिए फायदेमंद होता है।
  • बच्चों को घर में नियमित समय पर ही टीवी देखने दें। 
  • यह ध्यान दें कि बच्चा रोज बाहर खेलने जाए और थोड़ी एक्सरसाइज भी करे। यहां पर ओवरपेरेंटिंग न करें। दोस्तों के साथ खेलने वाले बच्चे न केवल हेल्दी लाइफ स्टाइल जीते हैं, बल्कि भविष्य में वे ज्यादा एक्टिव और स्मार्ट भी होते हैं। अपने बच्चे का ऐसे स्कूल में दाखिला करवाएं जहाँ शिक्षा के साथ खेलों पर भी पूरा ध्यान दिया जाता हो।
  • जो बच्चे खुश रहते हैं, वे अधिक सफल होते हैं। इन्हें नाखुश बच्चे की तुलना में अच्छी नौकरी और जीवन मिलता है। अपने बच्चे पर हमेशा विश्वास करें। बच्चे के सफल होने पर उसकी इंटेलिजेंस से ज्यादा उसके प्रयासों को सराहें। 
  • बच्चों को नींद पूरी करने का मौका दें। रोजाना एक घंटे की नींद कम लेने से सिक्स्थ क्लास के बच्चे का दिगाम फोर्थ क्लास के बच्चे के बराबर हो जाता है। 
  • बच्चों की संगत अच्छी होनी चाहिए। अच्छे पड़ोसी, अच्छे स्कूल और अच्छे दोस्त दिमाग पर अच्छा असर डालते हैं। 
  • बच्चों को नई-नई भाषा सिखाने में मदद करें। जिन बच्चों को सेकंड लैंग्वेज आती है, वे प्रेशर में अच्छा परिणाम देते हैं।