गाड़ी का माइलेज ऐसे बढाएं Gadi ka mailej aise badhaye

हालांकि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी हो चुकी है लेकिन आप भी कुछ आसान से टिप्स अपनाकर बढ़ा सकते हैं अपनी गाड़ी का माइलेज। इन टिप्स को अपनाने से न कि आपकी गाड़ी का माइलेज बढ़ने से ईधन में खर्च होने वाले आपके पैसे बचेंगे बल्कि गाड़ी भी ठीक तरह से काम करती रहेगी।


  1. जरूरत के अनुसार ही करें एक्सलरेट: गाड़ी स्टार्ट करते वक्त ब्रेक के साथ एक्सलेरेटर को कम देर तक ही पुश करें। गाड़ी का एक्सलेरेटर उतना ही दबाएं जितनी जरूरत हो यानि फालतू में गाड़ी को ज्यादा देर तक नहीं दबाएं। क्योंकि जितनी तेजी से और देर तक आप एक्सलरेटर दबाते हैं उतनी ही तेजी से उसकी मोटर पर दबाव पड़ता है और ईधन ज्यादा खर्च होता है। साथ ही जरूरत के हिसाब से धीरे-धीरे गियर बदलें।
  2. टायरों में रखें पूरी हवा: गाड़ी का माइलेज बढ़ाने में टायरों की हवा भी महत्वूपर्ण रोल निभाती है। यदि गाड़ी के टायरों में एयरप्रेशर कम है तो ईधन ज्यादा खर्च होता है। गाड़ी के टायरों में पूरी हवा रखकर आप 3 प्रतिशत तक ईधन बचा सकते हैं। वहीं टायरों में अगर एयरप्रेशर सही नहीं तो ईधन की खपत 8 फीसदी तक बढ़ सकती है। इसलिए समय-समय पर टायरों में हवा चैक करवाते रहे। टायर यदि पुराने हैं तो हर 20 दिन बाद इनकी हवा चैक करवाते रहें। इसके लिए पेट्रोल पम्प पर मिलने वाली फ्री सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।
  3. इंजन एयर फिल्टर रखें साफ: यदि गाड़ी के इंजन का एयर फिल्टर गंदा है इंजन कार्यक्षमता पर प्रभाव पड़ता है जो आपके लिए भारी पड़ सकता है। ऎसे में इसें हमेशा साफ रखें। इंजन एयर फिल्टर में हवा, प्रदूषण, गंदगी, धूल मिट्टी समाते रहते हैं जिसके चलते इंजन तक साफ हवा नहीं पहुंचती और इंजन परफोर्मेस खराब हो जाती है। इतना ही नहीं बल्कि एयर फिल्टर धूल से भर जाने पर इंजन को ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है माइलेज घटता है। इसलिए इंजन एयर फिल्टर को हमेशा साफ रखें।
  4. क्रूज कंट्रोल का करें इस्तेमाल: आजकल ज्यादातर गाडियों में क्रूज कंट्रोल का ऑप्शन दिया जाने लगा है। अगर इस फीचर का इस्तेमाल सही तरीके से किया जाए तो यह ईधन की खपत को कम करता है। इतना ही नहीं बल्कि यह कॉन्सटेंट स्पीड भी बरकरार रखता है।
  5. समय पर बदलें इंजन ऑयल: यदि गाड़ी का इंजन ऑयल साफ है तो उसका माइलेज बढ़ता है। यदि आपके पास पेट्रोल कार है तो इंजन ऑयल हर 5000 किमी के बाद बदल लें। यदि डीजल कार है तो 2500 किलोमीटर पर इंजन ऑयल बदल लें। ध्यान रहे कि इंजन ऑयल चेंज करवाते समय फिल्टर न भूलें क्योंकि ऎसा करने पर गाड़ी के ईधन का खर्च 5 से 7 फीसदी तक कम हो सकता है।
  6. खुली सड़कों पर चलाएं गाड़ी: यदि आप गाड़ी भीड़-भाड़ वाले इलाकों की बजाए खुली सड़कों पर चलाते हैं तो उसका माइलेज बढ़ता है। भीड़-भाड़ वाले इलाकों से गुजरने पर गाड़ी में बार-बार ब्रेक लगाने होते हैं साथ ही उसकी गति में भी उतार चढ़ाव आता है जिससें ईधन की खपत ज्यादा होती है। इसके लिए आजकल आने वाले स्मार्टफोन्स में ऎसे एप होते हैं जिनके तहत आप रियल-टाइम ट्रैफिक मूवमेंट का पता लगा सकते हैं। इसके अलावा ट्रेफिक सिग्नल ज्यादा लंबा हो तो गाड़ी का इंजन ऑफ कर दें।
© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM