इलायची खाने के कई फायदे Ilayachi khane ke kai fayde

इलायची खाने के कई फायदे Ilayachi khane ke kai fayde, Many benefits of eating cardamom.

इलायची एक सुगंधित मसाला है। यह मीठे व्यंजन का स्वाद बढ़ाने के लिए उपयोग में लाई जाती है। इसकी गंध तीखी होती है। इसीलिए इसका उपयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में किया जाता है। 


इसमें आयरन, राइबोफ्लेविन, विटामिन सी और नियासिन पाया जाता है। ये रेड ब्लड सेल्स के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इलायची खाने के कई फायदे हैं। आइए आज हम जानते हैं इलायची खाने के ऐसे ही कुछ फायदों के बारे में: 
  1. पाचन को ठीक रखती है: खाने के बाद कई लोग इलायची का उपयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में करते हैं। जानते हैं क्यों? दरअसल, इलायची प्राकृतिक रूप से गैस को खत्म करने का काम करती है। यह पाचन को बढ़ाने, पेट की सूजन को कम करने व दिल की जलन को खत्म करने का काम करती है। आयुर्वेदिक ग्रंथों के अनुसार, यह खाने के पाचन में मदद करती है। यदि आपको बदहजमी की शिकायत है तो दो से तीन इलायची, अदरक का एक छोटा-सा टुकड़ा, थोड़ी-सी लौंग और सूखा धनिया पीस लें। इस पाउडर को गर्म पानी के साथ खाएं। पेट से जुड़ी प्रॉब्लम्स खत्म हो जाएंगी।  
  2. सांस की दुर्गंध दूर करती है: इलायची में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। साथ ही, इसका तेज स्वाद और भीनी-सी महक सांसों की दुर्गंध दूर करती है। यह डायजेशन को सही रखती है। रोज खाने के बाद एक इलायची खाएं या रोज सुबह इलायची की चाय पिएं।    
  3. एसिडिटी से छुटकारा: इलायची में मौजूद तेल एसिडिटी को खत्म करता है। इलायची चबाने पर इसमें से कई तरह के तेल निकलते हैं, जो आपकी लार ग्रंथियों को उत्तेजित करते हैं। इससे आपका पेट ठीक तरह से कार्य करता है। भूख तेज लगती है। इलायची खाने पर इसमें मौजूद तेल ठंडक का अहसास कराता है। इसीलिए इसे चबाने से एसिडिटी से होने वाली जलन दूर हो जाती है।   
  4. फेफड़ों से जुड़े रोगों का है प्राकृतिक इलाज: इलायची अस्थमा, खांसी, ज़ुकाम और फेफड़ों से जुड़ी दूसरी बीमारियों से राहत दिलाती है। आयुर्वेद में इलायची को एक गर्म मसाला माना गया है। यह शरीर को अंदर से गर्म रखती है। इसके सेवन से कफ बाहर हो जाता है। सर्दी, खांसी या छाती में जमाव है, तो इन परेशानियों से राहत पाने के लिए इलायची सबसे बेहतर प्राकृतिक उपचार है। यदि आपको ज्यादा सर्दी हो रही हो तो भाप लेते समय गर्म पानी के बर्तन में इलायची के तेल की कुछ बूंदें डालें। 
  5. दिल की गति को नियमित करना: इलायची पोटैशियम, कैल्शियम जैसे खनिजों से भरपूर होती है। इसीलिए यह शरीर की इलेक्ट्रोलिसिस प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इलायची दिल की गति को नियमित करने में मदद करती है। साथ ही, यह ब्लडप्रेशर को नियंत्रित करती है। इसीलिए अगर आप अपने हार्ट को हमेशा हेल्दी बनाए रखना चाहते हैं, तो अपने दैनिक भोजन में इलायची को शामिल करें या केवल इलायची वाली चाय पिएं।   
  6. एनीमिया से बचाती है: एक गिलास गर्म दूध में एक या दो चुटकी इलायची पाउडर और हल्दी मिलाएं। आप यदि चाहें तो स्वाद के लिए चीनी मिला सकते हैं। एनीमिया के लक्षणों और कमजोरी से राहत पाने के लिए इसे हर रात पिएं।  
  7. शरीर को डिटॉक्सिफाई करना: इलायची मैंगनीज का एक प्रमुख स्रोत है। मैंगनीज एंजाइम्स के स्राव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह फ्री रैडिकल्स को नष्ट करता है। इसके अलावा, इलायची में शरीर से जहरीले तत्व को बाहर निकालने का गुण पाया जाता है। यह कैंसररोधी का भी काम करती है।   
  8. दूर करे कमजोरी: इलायची एक शक्तिशाली और उत्तेजक टॉनिक है। यह न केवल आपके शरीर को मजबूत बनाती है, बल्कि कमजोरी और नपुंसकता को रोकने में भी मदद करती है। इससे न केवल समस्या से राहत मिलती है, बल्कि आप अधिक देर तक ऊर्जावान भी महसूस करते हैं। इलायची के कुछ बीजों को दूध में उबालें। एक बार अच्छी तरह से उबाल आने पर इस मिश्रण में शहद डालें। कमजोरी में राहत पाने के लिए हर रात इसका सेवन करें।

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM