For Smartphone and Android
Click here to download

Breaking News

थकान क्यों महसूस होती है Thakaan kyon mahsus hoti hai

थकान क्यों महसूस होती है Thakaan kyon mahsus hoti hai, Why feel tired.

अक्सर सोमवार को ऑफिस में दिन भर नींद महसूस होती है। इसका कारण है रविवार को सुबह देर तक सोना, जिससे रात को नींद नहीं आती और आठ घंटे से कम सोने की वजह से थकान महसूस होती है।


आजकल लोगों की लाइफस्टाइल इतनी ज्यादा बदल चुकी है कि शरीर का जल्दी थक जाना एक आम समस्या बन चुकी है। इसके कई कारण हैं, जैसे गलत खान-पान, सोने की गलत टाइमिंग वगैरह-वहैरह। आज हम आपको ऐसे दस कारण बता रहे हैं जिससे आपको पता चलेगा कि इतनी थकान आखिर क्यों महसूस होती है: 
  1. एक्सरसाइडज़ न करना: अपनी एनर्जी बचाने के लिए वर्कआउट न करना वाकई इसके विरुद्ध काम करता है। एक स्टडी के अनुसार, 20 मिनट तक रोज एक्सरसाइज़ करने वाले लोग कम थकान और खुद को ऊर्जा से भरपूर महसूस करते हैं। रेग्युलर एक्सरसाइज करने से शरीर मजबूत होता है और सहन शक्ति बढ़ती है। साथ ही आपका हृदय सही ढंग से काम करता है। इससे टिश्यू में ऑक्सीजन और ज़रूरी पोषक तत्व डिलिवर होते हैं। इसलिए अगली बार से थक कर सोफे में बैठने के बजाय तेजी गति से चहलकदमी ही करें। इससे आपको ऊर्जा प्राप्त होगी।  
  2. आवश्यकतानुसार पानी न पीना: शरीर में 2 प्रतिशत भी पानी की कमी से भी एनर्जी लेवल कम हो जाता है। डिहाइड्रेशन से शरीर में खून का घनत्व कम हो जाता है और रक्त गाढ़ा हो जाता है। इससे आपके दिल की धड़कन कम हो जाती है। साथ ही, मांसपेशियों और दूसरे अंगों तक ऑक्सीजन और पोषक तत्वों के पहुंचने की गति भी कम हो जाती है। आपको कितनी मात्रा में पानी पीना चाहिए, यह जानने के लिए अपने वजन को पाउंड में नापें। अब इसे आधा करें और इतना ही औंस पानी रोज पिएं।  
  3. आयरन की मात्रा में कमी होना: आयरन की कमी से शरीर सुस्त, और कमज़ोर हो जाता है, साथ ही किसी चीज़ में मन नहीं लगता है। इससे आपको थकान महसूस होती है, क्योंकि मांसपेशियों और कोशिकाओं में ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है। इसलिए अपनी डाइट में आयरन की मात्रा बढ़ाएं और एनीमिया होने से खुद को बचाएं। इसके लिए लीन बीफ, राजमा, टोफु, अंडे, हरी पत्तेदार सब्जियां, ड्राय फ्रूट्स, पीनट बटर और विटामिन से युक्त फलों को अपनी डाइट में शामिल करें।  
  4. ब्रेकफास्ट न करना: भोजन शरीर में ईंधन की तरह काम करता है। आप जो भी रात में खाते हैं, आपकी बॉडी आपके सोने पर उसे ऊर्जा के रूप में इस्तेमाल करती रहती है। इसलिए सुबह उठने पर आपको नाश्ते के साथ दोबारा ईंधन देना होता है। ब्रेकफास्ट स्किप करने से दिनभर सुस्ती महसूस होती है। नाश्ते में आपको साबुत अनाज, प्रोटीन और हेल्दी फैट लेना चाहिए। इसके लिए सबसे बेहतर है ओटमील को प्रोटीन पाउडर और पीनट बटर के साथ बना कर खाना। या फिर फ्रूट, प्रोटीन पाउडर, लो-फैट मिल्क और बादाम बटर को मिलाकर फ्रूट मिल्क बना कर पीना।  
  5. जंकफूड का अधिक सेवन: जंकफूड ग्लाइसेमिक इंडेक्स पर हाई रैंक पर होते हैं, जिससे यह पता चलता है कि कैसे कार्बोहाइड्रेट्स ब्लड शुगर को बढ़ाता है। ब्लड में शुगर लेवल घटने-बढ़ने से शरीर में कमजोरी महसूस होती है। अपने ब्लड शुगर को स्थिर रखने के लिए प्रोटीन के साथ साबुत अनाज अपने प्रत्येक भोजन में शामिल करें। बेक्ड चिकन और ब्राउन राइस, सालमन फिश और स्वीट पोटैटो या चिकन और फ्रूट्स के साथ सलाद खाएं।  
  6. रात में सोने से पहले ड्रिंक करना: अक्सर नाइट पार्टी में लोग ड्रिंक लेना पसंद करते हैं। कुछ लोगों को एल्कोहल के सेवन के बाद संतुष्टि मिलती है, लेकिन यह भी सच है कि एल्कोहल प्रारंभिक अवस्था में सेंट्रल नर्वस सिस्टम को धीमा कर देता है। यह शरीर के एड्रेनालाइन सिस्टम में उथल-पुथल पैदा कर देता है। इसी वजह से अक्सर ड्रिंक करने वाले लोगों की अचानक आधी रात में नींद खुल जाती है। डॉक्टर कहते हैं कि सोने से करीब 3 से 4 घंटे पहले ही एल्कोहल का सेवन करना चाहिए।  
  7. सोते समय ई-मेल और मैसेज चेक करना: स्मार्टफोन, टैबलेट और कम्प्यूटर स्क्रीन की तेज रोशनी से मेलाटॉनिन हॉर्मोन्स की गति रुक जाती है, जिससे शरीर की प्राकृतिक सिरकैडियन रिदम बिगड़ जाती है। मेलाटॉनिन हार्मोन्स शरीर में सोने और जागने की क्रिया को नियमित बनाए रखने में मदद करता है। इसलिए सोने से करीब एक से दो घंटे पहले सारी टेक्नोलॉजी और गैजेट्स को खुद से दूर कर देना चाहिए। साथ ही, अपने चेहरे से करीब 14 इंच की दूरी पर फोन या गैजेट्स को रखना चाहिए, जिससे आपकी नींद न डिस्टर्ब हो।  
  8. कॉफी की ज्यादा मात्रा लेना: सुबह उठकर कॉफी पीने में कोई बुराई नहीं है। रिसर्च के अनुसार, रोज तीन कप कॉफी पीना आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है, लेकिन कैफीन की ज्यादा मात्रा लेने आपके सोने-उठने की प्रॉसेस बिगड़ जाती है। डॉक्टर के अनुसार, सोने से करीब 6 घंटे पहले भी कॉफी पीना आपकी सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है। इसलिए कोशिश करें कि दोपहर बाद कॉफी का सेवन बिल्कुल न करें।  
  9. वीकएंड पर देर से सो कर उठना: शनिवार देर रात तक पार्टी और फिर रविवार को देर तक सोने से आपका रूटीन डिस्टर्ब होता है। इससे आपको रविवार रात को सोने में तकलीफ होती है और आपको नींद नहीं आती। इससे सोमवार को जब आप ऑफिस में होते हैं तो आपको नींद महसूस होती है। इसलिए छुट्टियों वाले दिन भी अपने नॉर्मल दिनों की तरह उठने की आदत डालिए, चाहे तो फिर दोबारा दोपहर में आराम कर लें। 20 मिनट तक आराम करने से आपकी बॉडी दोबारा से चार्ज हो जाएगी।  
  10. हर छोटी-छोटी बात पर स्ट्रेस लेना: अगर आपका बॉस आपको कॉल करे तो आप सोचते लगते हैं कि उन्हें आपसे कोई शिकायत है, या फिर आप बाइक चलाने में डर रहे हैं, क्योंकि आपको लगता है कि एक्सिडेंट हो जाएगा। हर समय कुछ खराब होने के बारे में सोचना, ज़रा-ज़रा सी बातों पर टेंशन लेने से आप शारीरिक रूप से कमजोर हो जाते हैं और मानसिक रूप से थकान महसूस करते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा है, तो किसी भी स्थिति में घबराने के बजाय शांति से उनका हल ढूंढे। मेडिटेशन करें, एक्सरसाइज करें और धैर्य रखें।