किस ऐसे करें कि यादगार बन जाए Kiss aise karen ki yadgar ban jaye

वैसे तो गुड मॉर्निंग किस से लेकर गुड नाइट किस तक और बेस्ट ऑफ लक से लेकर बधाई देने के लिए भी लोग एक-दूसरे को किस करते हैं. हालांकि किस का कोई खास या चुनिंदा समय नहीं होता है, लेकिन अगर आपने खास अंदाज में किस को भावनाओं के साथ जोड़कर उसे यादगार नहीं बनाया तो उस किस की अहमियत नहीं रहती. 


किस करने का हर किसी का अपना खास स्टाइल होता है और अगर आपका अपना स्टाइल नहीं है तो आप धीरे-धीरे बना लेंगे. वैसे ये भी सच है कि किसिंग के लिए कोई एक्सपर्ट मौजूद नहीं है. लेकिन ये बात गांठ बांध लें कि किस करने से पहले आपको पूरी तरह से रिलैक्स होने की जरूरत होती है. रिलैक्स होने के लिए सामान्य रूप से सांस लें. किसिंग के दौरान मुंह से सांस नहीं ले पाने की हालत में नाक से धीरे-धीरे सांस लेने की कोशिश करें और ऐसा ही अपने पार्टनर को भी करने को कहें. लेकिन ध्यान रखें कि किसिंग के दौरान पार्टनर को बीच-बीच में सांस लेने का समय दें, इससे आप प्यार को एंजॉय करेंगे.
प्यार के बारे में एक और बात गांठ बांध लें कि प्यार के बीच में कुछ नहीं आना चाहिए. यही बात किसिंग पर भी लागू होती है और किसिंग के दौरान किसी अन्य चीज के बारे में ना सोचें. एक और बात... जब किसिंग के लिए दोनों के होंठ मिल रहे हों तो उस समय ऑफिस की मीटिंग, अधूरे काम, बॉस की डांट और तारीफ हर चीज को भूल जाएं. इसके साथ ही ये भी जरूरी है कि किसिंग के वक्त सिर्फ किस के बारे में सोचें, आगे के बारे में तोते ना उड़ाएं. एक्साइटमेंट और नर्वसनेस में जल्दबाजी ना करें. 

किसिंग का कोई सही तरीका नहीं है. किस करने के लिए अपने पार्टनर की गर्दन को पीछे या एक तरफ से आराम से सहलाते हुए पकड़ें. आप चाहें तो किसिंग के दौरान पार्टनर को कमर से भी पकड़ सकते हैं. किसिंग के दौरान उनके चेहरे पर उंगलियां फिराकर आप किस के लिए उन्हें उत्तेजित कर सकते हैं. आप जानते ही होंगे कि महिलाओं के कान के नीचे का भाग काफी संवेदनशील और उत्तेजना पैदा करने वाला होता है. कान के नीचे किस करना महिलाओं को बहुत अच्छा लगता है. किस करने का एक तरीका ये भी है कि आप गले से किस करते हुए धीरे-धीरे ऊपर की तरफ जाएं और उनके कानों में धीरे से अपने मुंह से गर्म हवा फेंकें.

एक टिप्पणी भेजें