चमत्कार - कुत्ते को पाला तो बच गया मरने से Kutte ko pala to bach gaya marne se

कहते हैं कि जीवित रखना और मार देना तो ऊपर वाले के हाथ में होता है, लेकिन अगर किसी व्यक्ति को डॉक्टरों ने कह दिया हो कि वह क्रिसमस तक जीवित नहीं रहेगा मगर वह अभी भी जिंदा है। अमेरिका के फीनिक्स, अलबामा में 84 वर्षीय बिल होजनकैम्प का गाल ब्लाडर, लिवर और कोलोन के कैंसर के लिए इलाज किया गया। मई में उनकी सर्जरी और कीमोथैरेपी की गई थी।



उनके इलाज के दौरान बिल की पत्नी ने एक आवारा कुत्ते को पाल लिया था और जल्द ही दोनों हमेशा साथ-साथ रहने लगे। हाल ही में, होजनकैम्प को उनके डॉक्टरों ने बताया कि वे कैंसरमुक्त हो गए हैं। मेलऑनलाइन में जो‍ल ‍‍‍‍‍क्रिस्टी लिखते हैं कि इतने गंभीर बीमार रहने वाले बिल ने मान लिया था कि वही होगा जो उनकी किस्मत में होगा। लेकिन आश्चर्य की बात है कि वे अब पूरी तरह से स्वस्‍थ घोषित कर दिए गए हैं।
सात बच्चों के पिता बिल का मानना है कि डॉक्टरों ने उनसे कह दिया था‍ कि वे आगामी क्रिसमस देखने के लिए जीवित नहीं रहेंगे, लेकिन अब डॉक्टरों ने कहा कि वे पूरी तरह से स्वस्थ हैं।

बिल और उनकी पत्नी कैथी मानते हैं कि उन्हें उनके कुत्ते महाजोंग ने बचाया है। इस कुत्ते को वे सड़क से उठाकर लाए थे। वह सड़क पर बड़ी मुश्किल से चल पा रहा था। कैथी ने कार का दरवाजा खोला और महाजोंग को कार में रख लिया। दोनों ने बीस वर्षों तक कोई कुत्ता नहीं पाला और वे पालना भी नहीं चाहते थे, लेकिन जब कुत्ते का कोई मालिक नहीं मिला तो उन्हें मजबूरी में कुत्ते को अपने घर में ही रखना पड़ा। महाजोंग बिल के प्यार में पागल हो गया और दोनों ने इस तरह से दिन बिताना शुरू किए कि मानो दोनों एक दूसरे को वर्षों से जानते हों।

अपने शरीर को ट्‍यूमर से मुक्त रखने के लिए बिल ने कीमोथैरेपी का सहारा लिया और इसके बाद डॉक्टरों ने उनके कुछ परीक्षण किए, लेकिन दम्पति की खुशी का तब कोई ठिकाना नहीं रहा जब‍ कि डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि बिल अब कैंसर से पूरी तरह से मुक्त हैं। बिल मानते हैं कि यह किसी चमत्कार से ही संभव हुआ है लेकिन यह चमत्कार महाजोंग के बिना संभव नहीं था।

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM