मैली चादर ओढ के कैसे Maili chadar od ke kaise

मैली चादर ओढ के कैसे Maili chadar od ke kaise, How wearing dirty sheet

मैली चादर ओढ के कैसे, द्वार तुम्हारें आंऊ,
हे पावन परमेश्वर मेरे, मन ही मन शरमाऊ ॥


तुमने मुझको जग में  भेजा ,निर्मल देकर काया,
आकर के संसार में मैनें .इसको दाग लगाया ॥
जन्म जन्म की मैली चादर, कैसे दाग छुडांऊ...
मैली चादर ओढ के..........................

निर्मल वाणी पाकर तुझसे ,नाम न तेरा गाया,
नैन मूंदकर हे परमेश्वर ,कभी न तुझको ध्याया॥
मन वीणा की तारें टूटी. अब क्या गीत सुनाऊं...
मैली चादर ओढ के..........................

इन पैरों से चलकर तेरे, मंदिर कभी न आया,
जहाँ जहाँ हो पूजा तेरी , कभी न शीश झुकायां ॥
हे हरिहर मैं हार के आया, अब क्या हार चढाऊं...
मैली चादर ओढ के..........................

मैली चादर ओढ के कैसे ,द्वार तुम्हारें आंऊ,
हे पावन परमेश्वर मेरे , मन ही मन शरमाऊ ॥

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM