0
मुनक्का (किसमिस) खाने के फायदे Munkka (kismis) khane ke fayde, Raisins (Kismis) food benefits.

मुनक्का एक लाभदायक एनर्जेटिक दवा की तरह काम करता है। इसकी प्रकृति गर्म होती है ।



इसका प्रयोग करने से प्यास शांत हो जाती है. यह गर्मी और पित्त को ठीक करता है । यह पेट और फेफड़ों के रोगों में भी बहुत लाभकारी है। मुनक्का से इन रोगों का इलाज किया जा सकता है।

1 - 10 -12 मुनक्का धोकर रात को पानी में भिगो दें। सुबह को इनके बीज निकालकर खूब चबा-चबाकर खाएं , तीन हफ्तों तक यह प्रयोग करने से खून साफ होता है तथा नकसीर में भी लाभ होता है। 

2 - 5 मुनक्कालेकर उसके बीज निकल लें , अब इन्हें तवे पर भून लें तथा उसमें काली मिर्च का चूर्ण मिला लें । इन्हें कुछ देर चूस कर चबा लें ,खांसी में लाभ होगा। 

3- बच्चे यदि बिस्तर में पेशाब करते हों तो उन्हें 2 मुनक्का बीज निकाल कर व उसमें एक-एक काली मिर्च डालकर रात को सोने से पहले खिला दें , यह प्रयोग लगातार दो हफ्तों तक करें , लाभ होगा।

4- पुराने बुखार के बाद जब भूख लगनी बंद हो जाए तब 10 -12 मुनक्का भून कर सेंधा नमक व कालीमिर्च मिलाकर खाने से भूख बढ़ती है । 

5 - यदि किसी को कब्ज की समस्या है तो उसके लिए शाम के समय 10 मुनक्का को साफ धोकर एक गिलास दूध में उबाल लें फिर रात को सोते समय इसके बीज निकल दें और मुनक्का खा लें तथा ऊपर से गर्म दूध पी लें , इससे लाभ होगा। इस प्रयोग से यदि किसी को दस्त होने लगें तो मुनक्का लेना बंद कर दें। 

6- मुनक्का के सेवन से कमजोरी मिट जाती है और शरीर पुष्ट हो जाता है । 

7- मुनक्का में आयरन की मात्रा अधिक होने के कारण यह खून के लाल कण को बढ़ाता है अत: रंग गोरा होता है। 


8 - 4-5 मुनक्का पानी में भिगोकर खाने से चक्कर आने बंद हो जाते हैं ।

एक टिप्पणी भेजें

 
Top