For Smartphone and Android
Click here to download

Breaking News

तलाक के बाद महिलाएं ज्यादा खुश रहती है - Talaak ke baad mahilaye jyada khush rahti hai

यदि आप भी सोचते है कि तलाक के बाद महिलाओ की जिंदगी में अकेलापन छा जाता है और उनका जीवन नीरस हो जाता है तो यहाँ आपकी सोच बिलकुल गलत है, तो आप इस गलतफहमी को दिल से निकल दीजिए क्योंकि तलाक के बाद महिलाओ की अपेक्षा पुरुषों को ज्यादा परेशान होना पड़ता है...

किंग्स्टन यूनिवर्सिटी के द्वारा कराए गए एक रिसर्च से यह खुलासा हुआ है कि शादी टूटने के बाद तलाकशुदा पत्नी अपने पति के बिना अधिक खुशनुमा तरीके से ज़िंदगी बिताती है। 16 से 60 साल तक के तक़रीबन 10000 वैवाहिक जोड़ो पर किए गए रिसर्च के बाद इस नतीजे पर पहुंचा जा सका है।

किंग्स्टन बिजनेस स्कूल के रिसर्च इन एंप्लॉयमेंट,स्किल्स एंड सोसायटी के डायरेक्टर प्रोफेसर येनिस जॉर्जलिश ने बताया कि कभी-कभी तलाक महिलाओं के लिए आर्थिक कमजोरी की वजह बन जाता है, लेकिन अधिकार देखा गया है की वह पति की अपेक्षा अधिक खुश रहती हैं। इसका कारण उन जिम्मेदारियों से छुटकारा होता है, जो उसे रोजमर्रा के जीवन में उठानी होती हैं।

इसके अतिरिक्त महिलाये विवाह के बाद अपना मायका छोड़कर पति के घर जाती है तो उसके जीवन में कई बदलाव आते हैं, जबकि पुरुष या तो अपने परिवार के साथ ही होता है, या अकेली पत्नी के साथ अलग रहता है।

शोधकर्ताओं एवं मनोचिकित्सकों का मानना है की विवाह का टूटना किसी भी मायने में सही नहीं ठहराया जा सकता, क्योंकि इसमें अधिकतर कारण महिला-पुरुष के बीच स्वाभिमान, प्रेम का अंत और पारिवारिक-सामाजिक असमानता होती हैं। इसका सीधा असर उनके बच्चों के भविष्य पर देखने को मिलता है। यह प्रयास किया जाना चाहिए कि वैवाहिक रिश्ते को जितना बचा सकें बचाना चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं