Header Ads

Breaking News

Ads

अपना काम समय पर करते रहें Apna kaam samay par karte rahen

अपना काम समय पर करते रहें Apna kaam samay par karte rahen, Keep your work on time.

एक बार एक जमींदार था. उसे खेत में काम करने के लिए एक नौकर की जरुरत थी. इससे पहले भी उसके पास काफी नौकर लगे लेकिन काम ज्यादा होने के कारण कोई भी उसके पास रह नहीं पाया था. 
 
इस बार एक आदमी उसके पास आया और जमींदार से बोला - शाहब जी मुझे काम की तलाश है और आपको एक नौकर की यदि आप मझे काम पर रख ले तो इससे हम दोनों की समस्या का हल हो जाएगा.

जमींदार ने उससे कहा - देखों भाई मेरे पास पहले भी कई लोग काम पर रह चुके है लेकिन उनमे से कोई भी यहाँ टिक नहीं पाया है इसलिए मैं चाहता हूँ की तुम पहले मेरे खेत में काम करके देख लो और यदि तुम्हें ये काम ठीक लगे तो मेरे पास रहना अन्यथा पहले ही इन्कार कर देना.

उस आदमी ने जमींदार की इस बात को स्वीकार कर लिया. जमींदार ने उसे अपना पूरा खेत दिखाया और उसे जितना काम करना था समझा दिया.

उस आदमी ने जमींदार से कहा - शाहब जी मुझे इस काम को करने में ज़रा भी कठिनाई नहीं है लेकिन मेरी भी एक शर्त है की जब भी हवा बहेगी उस समय मैं कोई काम नहीं करूँगा और आराम से सो जाऊंगा. 

जमींदार ने उसकी इस शर्त को मान लिया. और उसे काम पर रख लिया. कुछ दिन बाद एक दिन तेज हवा चलने लगी. जमींदार ने सोचा की तूफान आने वाला है इसलिए वह जल्दी से खेत में गया, और देखा की वह आदमी आराम से सो रहा है. अब तक हवा भी काफी तेज हो चुकी थी. यह देखकर जमींदार को बहुत गुस्सा आया और उसने उस आदमी को जगाते हुए कहा - अरे भाई ये क्या है बाहर आंधी आई हुई है और तुम सो रहे हो. ऐसे तो सारी फसल ख़राब हो जाएगी और यदि बरसात हो गई तो सारा अनाज खलिहान में पड़ा भीग जाएगा. जल्दी उठो काम करो.

यह सुनकर वह आदमी जमींदार से बोला - महाराज मैंने पहले ही कहा था की जब हवा बहेगी मैं सो जाऊँगा. और यह कहकर वह आदमी फिर से सो गया.

अब जमींदार अकेला ही खलिहान की ओर चल दिया तब तक बारिस भी शुरू हो गई थी. जमींदार जब खलिहान में पहुंचा तो आश्चर्यचकित रह गया क्योंकि खलिहान में जितना काम था वह पूरा किया जा चुका था, फसल को उचित तरीके से ढककर बांध दिया था. यह देखकर जमींदार काफी खुश हुआ और समझ गया की आखिर उस आदमी की बातों में क्या राज था.

ये भी पढ़ें - विद्यार्थियों के लिए शिक्षा

शिक्षा - हमें अपने काम को समय के साथ - साथ पूरा करते रहना चाहिए ताकि बाद में ऐसा ना हो की काम ज्यादा हो जाएँ और समय कम रह जाएं.