जानिये घरों में कुत्ते क्यों पाले जाते है - Janiye gharo me kutte kyo paale jaate hai

जानिये घरों में कुत्ते क्यों पाले जाते है - Janiye gharo me kutte kyo paale jaate hai, Learn why dogs are kept in the homes.

प्रिय दोस्त आपने अक्सर देखा होगा की बहुत से लोग अपने घरो में कुत्ता पालते है, लेकिन क्या कभी आपने सोचा है की लोग घरों में कुत्ता क्यों पालते है आइये इसके बारे में जानकारी लेते है.


घरों में कुत्ता पालने के फायदे:-
  • कुत्ते को सुबह की  सैर के लिए ले जाना होता है जिससे हमें भी ना चाहते हुए भी सैर का मौका मिल जाता है या ये कहिये की सैर करना हमारी मजबूरी बन जाती है.
  • जब हम सो रहे होते है तो कुत्ता हमारे घर की रखवाली करता है कोई भी दूसरा इन्सान बिना हमें आवाज लगाए हमारे घर में प्रवेश नहीं कर सकता है जिससे हमारे घर की सुरक्षा मुफ्त में हो जाती है।
  • पशु-पक्षियों में सबसे पुराना इंसान का साथी कुत्ता ही है. जब हम किसी जगह अकेले होते है उस समय यदि कुत्ता हमारे पास है तो हमें अकेलेपन का अहसास नहीं होता है.
  • माना जाता है कि काला कुत्ता जहां होता है वहां नकारात्मक उर्जा नहीं ठहरती है।
  • कुत्ते को हर मुसीबत का पहले ही अंदाजा हो जाता है। शकुन शास्त्र में कुत्तेको शकुन रत्न माना जाता है क्योंकि कुत्ता इंसान से भी अधिक वफादार, भविष्यवक्ता और अपनी हरकतों से शुभ-अशुभ का भी ज्ञात करवाता है।शनि को प्रसन्न करने के लिए बताए गए खास उपायों में से एक उपाय है घर मेंकाला कुत्ता पालना। काला कुत्ता शनिदेव का वाहन है। जो लोग कुत्ते को खानाखिलाते हैं उनसे शनि अति प्रसन्न होते हैं। शनि देव की कृपा के उपरांत जातकको परेशानियों से सदा के लिए निजात मिल जाती है। साढ़ेसाती, ढैय्या याकुंडली का अन्य कोई दोष इस उपाय से निश्चित ही ठीक हो जाता है।कुत्ते को तेल से चुपड़ी रोटी खिलाने से शनि के साथ ही राहु-केतु सेसंबंधित दोषों का भी निवारण हो जाता है। राहु-केतु के योग कालसर्प योग सेपीड़‍ित व्यक्तियों को यह उपाय लाभ पहुंचाता है।लाल किताब में केतु को कुत्ता माना गया है। घर में किसी भी रंग के कुत्तेको पालने से केतू के खराब प्रभाव को कम किया जा सकता है। ज्योतिषी केअनुसार केतु का प्रतीक है कुत्ता। पितृ शांति के लिए कुत्तों को मीठी रोटीखिलानी चाहिए। कुत्ते को प्रतिदिन रोटी खिलाने से सभी तरह के संकट दूर होतेहैं। घर में किसी भी प्रकार की आकस्मिक घटना नहीं होती।कुत्ते को भगवान भैरव का परमप्रिय माना गया है। भगवान भैरव का वाहन कुत्ताहै इसलिए काल भैरव जयंती, रविवार और मंगलवार कुत्ते की भी पूजा की जाती है।कहते हैं कि अगर कुत्ता काले रंग का हो तो पूजा का माहात्म्य और बढ़ जाताहै। कुछ भक्त तो उसे प्रसन्न करने के लिए दूध पिलाते हैं और मिठाई खिलातेहैं। सवा किलो जलेबी बुधवार के दिन भैरव नाथ को चढ़ाएं और कुत्तों कोखिलाएं। घर पर आने वाले सभी संकटों से मुक्ति पाएं।
 MHB2013

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM