किसी भी व्यक्ति को परेशान मत करो - Kisi bhi vaykti ko pareshan mat kro

लोगो को परेशान ना करें - Logo ko pareshan naa kren, Do not upset to any person.

प्रिय दोस्त, कई लोगो को आदत होती है लोगो को परेशान करने की. इस तरह के लोग दुसरे लोगो को परेशान करने के लिए पत्र या SMS भेजते है.


इस पत्र या SMS में ॐ नमों शिवाय, हरे कृष्णा, जय श्रीराम, हरे राम आदि शब्द 108 (यहाँ कोई अन्य संख्या भी हो सकती है) बार लिखे जाते है. इस तरह के पत्र या SMS भेजना गलत नहीं है लेकिन उनमे यह भी लिखा होता है की पढ़ने वाले भी अपने दोस्तों. रिश्तेदारों या अन्य लोगो को इस तरह के पत्र या SMS भेजे, यदि उन्होंने ऐसा नहीं किया तो उन्हें बहुत बड़ा नुकशान होगा. इसे पढ़ते ही पढ़ने वाला डर जाता है और उसे इस तरह के पत्र या SMS दुसरे लोगो को भेजने पड़ते है. दोस्तों इस तरह का पत्र या SMS यदि कभी आपको भी मिले तो डरने की जरुरत नहीं है क्योंकि यह सब एक इन्सान का काम है ना की भगवान का. दोस्तों भगवान कभी किसी का बुरा नहीं करते है.

आप सब दोस्तों से निवेदन है की इस तरह का कोई कार्य ना करें क्योंकि किसी को डराना आस्था नहीं है. आप भगवान में विश्वास रखते हो. अच्छी बात है. मैं भी भगवान में विश्वाश रखता हूँ. लेकिन किसी को डराने या परेशान करने के लिए इस तरह के पत्र या SMS का सहारा ना ले.

 ॐ नमों शिवाय, हरे कृष्णा, जय श्रीराम

एक टिप्पणी भेजें