आप की खूबी ही आपकी सफलता है - Aapki khubi hi aapki safalta hai

Your quality is your success. आप की खूबी ही आपकी सफलता है - Aapki khubi hi aapki safalta hai.

दोस्तों, आज की तारीख में कई लोग अपने को आगे लाना चाहते हैं, सफल होना चाहते हैं. पर बड़े दुःख की बात है कि लोग अपने अन्दर की खूबियों(अच्छाईयों) को पहिचान नहीं पाते.

हर इंसान के अन्दर भगवान ने कुछ खूबियाँ दी हैं, एक विशिष्ट गुण दिया है. आपके अन्दर भी कोई न कोई एक गुण, एक QUALITY है कुछ करने की, कुछ कर दिखाने की, एक आग है मंजिलों को पाने की. लेकिन आप क्यों डर रहे हैं, क्यों घबरा रहे हैं? दुनियां में इतने महान लोग हुए हैं तो आप क्यों महान नहीं बन सकते? आप भी सफल व्यक्तियों की तरह कुछ अच्छा क्यों नहीं कर सकते? 

दोस्तों, ये सच है कि उन में जो खूबियाँ है जो गुण हैं वो आप में नहीं, पर कौन कहता है कि जो खूबियाँ और गुण आपके अन्दर हैं वही उन महान लोगों के अन्दर भी होंगी? याद रखिये कि जरुरी नहीं एक अच्छा डॉक्टर एक अच्छा डांसर भी हो. जरुरी नहीं एक अच्छा सिंगर एक अच्छा लेखक हो. जरुरी नहीं कि एक अच्छा प्रोग्रामर एक अच्छा बिजनेसमैन भी हो. जरुरी नहीं कि एक अच्छा कुक एक अच्छा टीचर भी हो.

दोस्तों आप के अन्दर talent (प्रतिभा) कूट-कूट कर भरा है, जरुरत है उन खूबियों को पॉलिश करने की, उन्हें फिर से उभारने की. भीड़ में अपनी एक अलग पहचान बनाने का साहस करिये और ये तभी होगा जब आप अपनी खूबियों को सबके सामने लायेंगे. कहते हैं talent कभी छिपता नहीं, प्रतिभा अपने आपको उभरने के रास्ते ढूंड लेती है, खूबियाँ तो उभरकर सामने आ ही जाती हैं. लेकिन सच तो यह है कि talent तभी उभरता है जब आप इसे उभारने के लिए तैयार हों. मतलब जब आप अपनी खूबियों के अनुरूप अपना मनपसंद काम करते हैं जिससे आपको ख़ुशी तो मिलती ही है साथ ही कामयाबी भी बहुत करीब से आपका स्वागत करती है. लेकिन ये सब तभी संभव होगा जब आप अपनी खूबियों को निखारने का, अपने अंदर के गुणों को सम्रद्ध करने का काम करेंगे. 

दोस्तों हो सकता है आप के अंदर एक अच्छा लेखक हो, एक अच्छा बिजनेसमैन हो, एक अच्छा चित्रकार हो, एक अच्छा किसान हो. आप के अंदर कई प्रतिभाएं, कई कौशल छुपे हो सकते हैं लेकिन आप समय की कमी या फिर उदासीनता के कारण उन पर ध्यान नहीं दे पा रहे हों. आप जब खुद अपनी प्रतिभा के विकास के लिए प्रयास नहीं करेंगे तो फिर दूसरा कैसे आपकी प्रतिभा को जान पायेगा. दूसरे तो आप की अच्छाईयों को तभी जान पायेंगे जब आप उनको सब के सामने लायेंगे. और जब आप अपनी प्रतिभा, अपने गुणों को उभारने का काम नहीं करेंगे तो फिर दूसरे तो क्या खुद आप को भी उनसे फायदा नहीं होने वाला. 

दोस्तों सफल व्यक्ति की हर कोई कद्र करता है, सफल होने पर आप का मूल्य, आप की कीमत अपने आप बढ़ जाती है. जो लोग पहले आपकी आलोचना करते थे वही अब आप की तारीफ करने लगते हैं. समाज में आप का status, आप की position बढ़ जाती है और ये सब चीजें किसे अच्छी नहीं लगतीं? Success होने पर आप की खूबियाँ आप की सफलता की पहचान बन जाती है. जब आप अपने Talent को सही तरीके से दुनिया के सामने लाते हैं तो वही दूसरों के साथ आप को खुद भी लाभ होता है. 

दोस्तों ये कितने दुर्भाग्य की बात होगी कि हम अनेक प्रतिभाओं के धनी होकर भी उनका उपयोग न कर पायें? हमारे लिए दोनों बातें बहुत जरुरी हैं; एक अपनी प्रतिभा को पहचानने की और दूसरी अपनी प्रतिभा का सही इस्तेमाल करने की. अगर इस दुनिया में हमने जन्म लिया है तो देश के लिए, अपने समाज के लिए और इस दुनिया के लिए अगर हम कुछ कर सकते हैं तो हमें अपनी प्रतिभा के उत्थान और उसके उपयोग पर सही ध्यान देना ही होगा. 

दोस्तों, अगर आप अपनी खूबियों को, अपनी प्रतिभा को निखारने का काम नहीं कर रहे तो इस का मतलब कुछ इस तरह हो सकता है कि आपके पास एक छुपा हुआ खजाना तो है लेकिन आप ना तो उसे निकाल रहे और ना ही उसका कोई उपयोग कर रहे, फिर सब कुछ होते हुए भी आप गरीब है इस में किसी का क्या दोष? दुनियां में ऐसे बहुत से उदाहरण हैं जहाँ लोग किसी दूसरे जॉब में होते हुए भी दूसरे क्षेत्र में अपनी सफलता का, अपनी success का परचम फहराते हैं. बहुत से teacher एक अच्छे कृषक भी होते हैं. बहुत से व्यापारी व्यापार के साथ-साथ कृषि कार्य भी कर लेते हैं, बहुत से students अपनी study के साथ part-time जॉब भी कर लेते हैं. 

कहने का मतलब है कि आप में एक से अधिक प्रतिभाएं हो सकती हैं, जरुरत है तो बस उन्हें पहचानने की और उन्हें निखारने की. उम्मीद है आपने अपनी खूबियों को, अपनी प्रतिभा को पहचाना होगा और आप अपने मनपसंद काम को करके आगे बढ़ रहे होंगे. आज दुष्यंत जी की पंक्तियाँ याद आ रही हैं: कौन कहता है आसमान में छेद नहीं हो सकता, जरा तबियत से एक पत्थर तो उछालो यारो.

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM