आपके लिए कुछ अनमोल विचार - Aapke liye kuchh anmol vichar

प्रिय दोस्त इस पोस्ट पर आप ऐसे अनमोल विचार पढ़ सकते हो जिन्हें अपने जीवन में धारण करने से अवश्य ही आपको सुख, शांति और सफलता मिलेगी. इन विचारों को आप जरुर पढ़ें और इन्हें अपने रिश्तेदारों और दोस्तों में शेयर करना ना भूलें.

  • “अगर आप के पास आज का काम ठीक से करने का वक़्त नहीं है तो आपके पास इसे फिर से करने का समय कब होगा?”
  • “अधिक ध्यान उस पर दें जो आपके पास है, उस पर नहीं जो आपके पास नहीं है।”
  • “अपनी बढ़ाई रण में जाते वक़्त नहीं बल्कि वापस आते वक़्त करें।”
  • “अपनी सामर्थ्य का पूर्ण विकास न करना दुनिया में सबसे बड़ा अपराध है. जब आप अपनी पूर्ण क्षमता के साथ कार्य निष्पादन करते हैं, तब आप दूसरों की सहायता करते हैं.”
  • “असफलता का डर ही सफलता में सबसे बड़ा रोड़ा है।”
  • “ईश्वर को आसमान में न ढूंढें; अपने भीतर ढूंढें।”
  • “उत्कृष्टता की सिद्धि तब नहीं होती जब कुछ और जोड़ना या लगाना बाकी नहीं रह जाए, बल्कि तब होती है जब कुछ हटाने के लिये नहीं बचे।”
  • “गुणवत्ता की कसौटी बनें. कई लोग ऐसे वातावरण के अभ्यस्त नहीं होते जहां उत्कृष्टता अपेक्षित होती है.”
  • “चिंता के समान शरीर का नाश करने वाला और कुछ नहीं है, सो जिसे भी ईश्वर में जरा भी विश्वास हो उसे किसी बात की चिंता करने की ज़रूरत नहीं.”
  • “जब आप अपने मित्रों का चयन करते हैं तो चरित्र के स्थान पर व्यक्तित्व को न चुनें.”
  • “जीवन को कुछ हम बनाते हैं, और कुछ वे मित्र जो हम चुनते हैं।”
  • “जीवन में दो मूल विकल्प होते हैं: स्थितियों को उसी रूप में स्वीकार करना जैसी वे हैं, या उन्हें बदलने का उत्तरदायित्व स्वीकार करना.”
  • “धन से आज तक किसी को खुशी नहीं मिली और न ही मिलेगी. जितना अधिक व्यक्ति के पास धन होता है, वह उससे कहीं अधिक चाहता है. धन रिक्त स्थान को भरने के बजाय शून्यता को पैदा करता है.”
  • “प्यार कभी निष्फल नहीं होता; चरित्र कभी नहीं हारता; और धैर्य और दृढ़ता से सपने अवश्य सच हो जाते हैं.”
  • “प्रेम ही है जो बेंच के दोनों किनारों पर जगह खाली होने पर भी दो लोगों को बीच में खींच लाती है।”
  • “बच्चों को बड़ा कर स्वस्थ और प्रसन्न इंसान बनाना ही मेरे लिए सफलता है।”
  • “बीमारी की कड़वाहट से व्यक्ति स्वास्थ्य की मधुरता समझ पाता है.”
  • “मजबूरी की स्थिति आने से पहले ही परिवर्तन कर लें.”
  • “माता पिता अपने बच्चों को उत्तरदान में धन दौलत नहीं, बल्कि श्रद्धा की भावना दें।”
  • “मुझे जीवन से प्यार है, क्योंकि और है ही क्या।”
  • “याद रखें कि भविष्य एक बार में एक दिन करके आता है.”
  • “विवाह के बंधन दूसरे बंधनों जैसे हैं - इन्हें मजबूत होने में वक़्त लगता है।
  • “व्यवहार कुशलता उस कला का नाम है कि आप महमानों को घर जैसा आराम दें और मन ही मन मनाते भी जाएं कि वे अपनी तशरीफ उठा ले जाएं।”
  • “हम हमारे जीवन के हर दिन अपने बच्चों की यादों के पिटारे में धरोहर सौंपते हैं।”
  • “है न यह अजीब बात कि हम उन चीज़ों के बारे में सब से कम बात करते हैं जिन के बारे में हम सब से अधिक सोचते हैं।”

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM