For Smartphone and Android
Click here to download

Breaking News

अपने दांतों की देखभाल कैसे करें - Apne danton ki dekhbhal kaise karen

यदि किसी को शुगर, दिल की बीमारी या ओस्टियोपोरोसिस हो तो दाँतो को देखकर बहुत कुछ बताया जा सकता है. इसलिए यह कहना गलत नहीं होगा की दाँत एवं मसूढे हमारे स्वास्थ्य की पूरी कहानी बयान करते हैं. दाँतो की अच्छे से देखभाल किए बिना दाँतो एवं मसूडों में होने वाली बीमारियाँ हमारे दाँतो को समय से पहले ही खत्म कर सकती हैं. इसलिए हमें जरुरत है अपने दांतों की सुरक्षा के लिए कुछ तरीके अपनाने की.


दाँतों की देखभाल करना जरूरी क्यों:- हम सबके मुंह में हमेशा लाखों बैक्टीरिया रहते हैं जिनका एक ही लक्ष्य होता है कि किसी तरह से कोई कड़ी सतह मिल जाए तो उस पर जाकर चिपक जाएँ और फिर एक बड़ा समूह बना लें. यह प्रक्रिया साल के 365 दिन और चौबीसों घंटे हमारे मुंह में होती रहती है. इस प्रक्रिया को रोका नहीं जा सकता क्योंकि ये बैक्टीरिया हमारे शरीर का एक हिस्सा हैं. जब ये बेक्टीरिया कड़ी सतह यानी हमारे दाँतो पर चिपकते हैं तो एक अदृश्य सतह, जिसको कि प्लेक कहते हैं, हमारे दांतों के चारों ओर बना देते हैं. आपने शायद सुबह को उठकर अपने दाँतो पर जीभ फिराते हुए कभी उस प्लेक को महसूस भी किया हो. दाँतो की देखभाल करने का मुख्य उद्देश्य ब्रश या फ्लोस की सहायता से इसी प्लेक को साफ़ करना होता है.

दाँतों को ब्रश करना:- अपने दाँतो को दिन में कम से कम दो बार लगभग दो मिनट या इससे ज्यादा ब्रश करना चाहिए. ब्रश सभी दांतों के आगे पीछे सभी जगह करना चाहिए और जीभ को भी साफ़ रखना चाहिए. सोने से पहले ब्रश करना सबसे ज्यादा फायदेमंद रहता है. दिन में मुँह में रहने वाली राल भी हमारे दांतों को बचाती है जबकि रात में हमारा मुह सूखा रहता है और फंसा हुआ खाना उनको नुक्सान पहुंचाता है. अगर किसी कारण कभी आप रात में ब्रश न कर पाए तो आपको पानी से जोरदार कुल्ला जरूर करना चाहिए.

दाँतों को फ्लोस करना:- हमारे दाँतो की सभी सतहो तक ब्रश नहीं पहुँच पाता. दो दांतों के बाच की जगह में फंसा खाना दांतों को बहुत ही नुक्सान पहुंचाता है इसको निकालने के लिए बहुत ही पतले धागे का इस्तेमाल किया जाता है जिसको फ्लोस करना कहते हैं. पुराने ज़माने में लोग खाना खाने के बाद दांत को कुरेदना अच्छा मानते थे. ऐसा करना दांतों के साथ मसूडो को भी बहुत फायदा पहुंचाता है.

जीभ को साफ़ रखे:- मुँह को स्वस्थ रखने के लिए जीभ को साफ़ करना भी उसी तरह जरूरी है जैसे दाँतो को साफ़ करना जबकि हम अक्सर जीभ की तरफ ध्यान नहीं देते. मुँह में बदबू, मसूडों या जीभ पर जमी मैल के कारण ही होती है. आपकी साफ़ जीभ आपके दाँतो और मसूडो को तो स्वस्थ रखती ही है साथ ही साथ ये आपकी साँस को भी ताजगी प्रदान करती है.

अपने खाने को ध्यान पूर्वक चुने:- स्नैकस खाने से जितना बच सकें बचना चाहिए क्यूंकि स्नैक्स में प्रयुक्त मसाले बहुत जल्दी ही दांतों में प्लेक को बनने में मदद करते हैं जिससे जल्दी ही दाँतो में कैविटी हो जाती है. चॉकलेट खाने से बचना चाहिए. चीज़ और दूध स्वस्थ दांतों के लिए अच्छे होते हैं. मीठा कम खाना चाहिए. हरी सब्जियाँ खानी चाहियें. सोडा या जूस के स्थान पर पानी पीना चाहिए क्योंकि फलों के जूस में भी एसिड्स और शुगर होते हैं जोकि दांतों को नुक्सान पहुंचाते हैं.

कोई टिप्पणी नहीं