पढिये नरेन्द्र मोदी के अनमोल विचार - Padhiye Narendra modi ke anmol vichar

प्रिय दोस्त इस पोस्ट पर आप नरेन्द्र मोदी जी के अनमोल विचार पढ़ सकते हो और यदि आप इनसे सहमत हो तो आप इन विचारों को अपने जीवन में धारण जरुर करें. इन विचारों को अपने दोस्तों और अन्य लोगों तक पहुँचाने के लिए इस पोस्ट को शेयर करें.

  • एक लोकतंत्र में , कोई दुश्मन नहीं होता बल्कि केवल प्रतिस्पर्धी होता है. यह प्रतिस्पर्धा चुनावों के साथ समाप्त हो जाती है.
  • एक सरकार के लिए कोई ख़ास नहीं है और न ही कोई पराया.
  • कड़ी मेहनत कभी थकान नहीं लाती , वह तो संतोष लाती है.
  • काम करने का कोई अवसर मिलना मेरे लिए सौभाग्य की बात है. में उसमे अपनी आत्मा डाल देता हूँ. क्योंकि ऐसा हर एक अवसर अगले अवसर के लिए द्वार खोल देता है.
  • किसी भी पार्टी के लिए उसका घोषणा पत्र गीता , कुरान और बाइबिल की तरह होना चाहिए.
  • कुछ नेता मेरे खिलाफ कहानियाँ गढ़ रहे है. तुमने मेरी सेवाएँ ली और अब मुझे किनारे करना चाहते हो. यह बिलकुल अनुचित और अस्वीकार है.
  • कुछ बनने के लिए सपने मत देखो बल्कि कुछ महान करने के लिए सपने देखो.
  • गरीब कभी मुफ्त कि चीज नहीं माँगता है , वो सम्मान के साथ जीना चाहता है. उसे काम का अवसर चाहिए , और इस देश के गरीब में वो ताकत है की यदि उसे काम का अवसर दिया जाए तो वो मिट्टी से भी सोना बना सकता है.
  • गुजरात ने हमेशा से देश को एक नई राह दिखाई है. महात्मा गाँधी और सरदार पटेल ने देश की आजादी के लिए नेतृत्व किया और अब गुजरात कृषि , शिक्षा और पेट्रो रसायन जैसे कई क्षेत्रो में देश में अग्रणी है.
  • जब कोई और खिलाड़ी कम रन बना कर आउट होता है तो लोग दुखी नहीं होते, लेकिन सचिन तेंदुलकर अगर 90 रन पर भी आउट होता है तो उसकी आलोचना होती है क्योकि लोग उसका आंकलन एक अलग स्तर पर करते है. मैं खुश हूँ कि मुझे भी उम्मीदों के पैमानों पर आँका गया है, न कि यश अपयश के पैमाने पर.
  • जो निरंतर चलते रहते है वही बदले में मीठा फल पाते है. सूरज की अटलता को देखो – गतिशील और लगातार चलने वाला , कभी ठहरता नहीं , इसलिए बढ़ते चलो.
  • डरतें वो है जो अपनी छवि के लिए मरते है , मैं तो हिन्दुस्तान की छवि के लिए मरता हूँ इसलिए किसी से नही डरता हूँ.
  • दीपक की लों के समान, ऊपर उठना हममें से हर एक की स्वाभाविक इच्छा है , चलिए इस इच्छा का सम्मान करें.
  • दीपक की लौ के सामान; ऊपर उठाना हममें से हर एक की स्वाभाविक वृत्ति है ; चलिए इस वृत्ति का पालन – पोषण करें.
  • देश का गौरव होगा तो किसी की भी देश पर आँख उठाकर देखने की हिम्मत नहीं होगी.
  • नाग पंचमी का पर्व इसलिए मनाया गया था क्योकि सांप मानसून में बाहर निकलते है. डरने वाले उन्हें जान से मार सकते है. सांपो की पूजा करने की परम्परा इसलिए शुरू की गयी थी ताकि कोई उन्हें मारे नहीं.
  • परमात्मा सिर्फ ‘ सहस्त्रबाहु ’ थे, लेकिन भारत माता की 250 करोड़ भुजाएँ है.
  • फर्क थोड़ा सा है तेरे और मेरे इश्क में , तू माशूक की खातिर रात भर जागता है और मुझे मात्रभूमि के हालात सोने नहीं देते.
  • भारत का युवा विकास का पक्षधर है और विकास के जरिये बदलेगी देश की तस्वीर.
  • माना की अँधेरा घना है, लेकिन दिया जलाना कहा मना है.
  • मेरा संघर्ष ‘ फ़ाइल् ’ में ‘ लाइफ ’ लाना है.
  • मेरी जिम्मेदारी देश को चलाने में नहीं बल्कि सभी को साथ लेकर चलाने की है.
  • मेरे जीवन में मिशन सबकुछ है, एम्बिशन कुछ भी नहीं….यदि में नगर निगम का भी अध्यक्ष होता तो भी उतनी ही मेहनत से काम करता जितना C.M होते हुए करता हूँ.
  • मेरे पास अपने बाप दादा की दौलत की ना ही एक पाई है , और ना ही मुझे चाहिए….मेरे पास अगर कुछ है तो अपनी माँ का दिया हुआ आशीर्वाद.
  • मै 07 -10 -2001 को C.M. नहीं बना. मैं हमेशा से C.M. था , में आज भी C.M. हूँ और हमेशा C.M. रहूँगा. मेरे लिए C.M. का मतलब Chief Minister नहीं बल्कि Comman man है.
  • मै केंद्र की सरकार को चेतावनी देना चाहता हूँ कि कश्मीर का मुद्दा बहुत संवेदनशील है और उन्हें किसी भी निष्कर्ष पर पहुँचने से पहले देश की जनता को विश्वास में लेना होगा.
  • मै खेल को सिर्फ शरीर तंदुरुस्त करने के तरीके के रूप में नहीं देखता. मै इसे शिक्षा के उपकरण के रूप में देखता हूँ जो मन को प्रोत्साहन देता है और अनुशासन को बढ़ावा देता है.
  • मैं एक छोटा आदमीं हूँ जो छोटे लोगों के लिए बड़े काम करना चाहता हूँ.
  • मैं मुफ्त भोजन दूंगा – राहुल गाँधी, मैं मुफ्त पानी दूंगा – केजरीवाल. न तो मैं मुफ्त पानी दूंगा, ना ही मुफ्त भोजन कि बात करूँगा. बल्कि मैं इतने रोजगार पैदा करूँगा और भारत के युवाओं को इतना सक्षम कर दूंगा, कि मेरे देश का हर एक व्यक्ति स्वाभिमान से अपना भी पेट भरेगा और दूसरों की प्यास भी बुझाएगा.
  • यह महत्वपूर्ण है की हम अपने देश के युवा को किस नजरिये से देखतें है. उन्हें मात्र कम उम्र के मतदाता के रूप में देखना एक बड़ी गलती है , वे नई उम्र की शक्तियाँ है.
  • राजनीति में कोई पूर्ण विराम नहीं होता.
  • लोकतंत्र में, जनमत हमेशा निर्णायक होता है, और हमें विनम्रता के साथ इसे स्वीकार करना होगा.
  • वक्त कम है जितना दम है लगा दो….कुछ लोगों को में जगाता हूँ , कुछ लोगों को तुम जगा दो.
  • वो लूट रहें है सपनों को मैं चैन से कैसे सो जाऊँ..वो बेंच रहे है भारत को…खामोश मैं कैसे हो जाऊँ.
  • शब्दों का एक सवेरा हूँ इन्कलाब लिखता हूँ , अपने स्वर्णिम हिन्द के विकास का सच्चा ख्वाब लिखता हूँ , माना सवाल बहुत उठते है मुझ पर अब लेकिन , मैं अपने शब्दों से ही उनका जवाब लिखता हूँ.
  • समाज की सेवा करने का अवसर हमे अपना ऋण चुकाने का मौका देता है.
  • सरकार का केवल एक ही धर्म है – सर्वोपरि भारत !, सरकार के लिए सिर्फ एक ही धर्म ग्रन्थ है – संविधान !, सरकार को सिर्फ एक ही भक्ति में संलग्न होना चाहिए – भारत देश की भक्ति !, सरकार की एक मात्र शक्ति है – जन शक्ति !, सरकार का केवल एक ही कर्तव्य है – 125 करोड़ भारतीयों की भलाई !, सबका साथ, सबका विश्वास ही सरकार एक मात्र आचार संहिता होनी चाहिए.
  • सरकार किसी एक विशेष पार्टी की नहीं होती बल्कि देश के सभी लोगों की होती है.
  • हम किसी व्यक्ति की सनक के हिसाब से सरकार नहीं चलाते , हमारी प्रगति सुधारों द्वारा संचालित, हमारे सुधार नीतियाँ द्वारा संचालित है और हमारी नीतियाँ लोगो द्वारा संचालित है.
  • हममें से हर किसी के अन्दर अच्छे और बुरे दोनों गुण होते है. जो अच्छे पर ध्यान केन्द्रित करने का निर्णय लेते है वो जीवन में सफल होते हैं.
  • हमारा देश गजब की युवा शक्ति से भरा है. हम जिस किसी भविष्य की इच्छा रखते हों, हमे युवाओ को केंद्र में रखना होगा. अगर हम ऐसा कर पाते है तो हम एक लहर की भांति अद्यतन(तेज) गति से आगे बढ़ सकते है.
  • हमें देश के लिए मरने या जेल में रहने का सौभाग्य नहीं मिला , लेकिन हम देश के लिए जी सकते है.

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM