loading...

यदि आप "श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया" नामक भजन की खोज कर रहें हो तो आप बिलकुल सही जगह पर आए हो. आप इस पोस्ट से अपनी पसंद का यह भजन पढ़ सकते हो और इसे अपने दोस्तों में बिलकुल मुफ्त में शेयर भी कर सकते हो. आइये इस भजन को पढियें, इन्तेजार किस बात का है.

श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया ।।

ऐसी वो रंग दे रंग नाई छूटे,
धोबनिया धोये चाहे सारी उमरिया।
श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया ।।

बिना रंगाये बाहर ना जाऊँ,
चाहे तो बीत जाए सारी उमरिया।
श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया ।।

लाल न ओढूँ पीली न ओढूँ,
ओढूँगी श्याम तेरी काली कमलिया।
श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया ।।

गागर जो भर दे, सिर पे जो धर दे,
चलके बता दे श्याम तेरी नगरिया।
श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया ।।

बाई मीरा कहे गिरधर नागर,
हरि के चरण चित्त लागी रे लगनिया।
श्याम पिया मोरी रंग दे चुनरिया ।।

Read More Posts
loading...


Free App to Make Money




Free recharge app for mobile
Click here to download
 
Top