0
प्रिय दोस्त यदि आप दर्द भरें एस एम एस पढ़ने के इच्छुक है तो आप इस पोस्ट पर अपनी इस इच्छा को पूरा कर सकते हो. क्योंकि हम आपके लिए कुछ Sad एस एम एस लेकर हाजिर हुए है. आप इस पोस्ट पर दिए गए सभी एस एम एस बिना किसी शुल्क के पढ़ सकते हो....

कितना अजीब अपनी जिन्दगी का सफर निकला,
सारे जहाँ का दर्द अपना मुकद्दर निकला,
जिस के नाम अपनी जिन्दगी का हर लम्हा कर दिया,
अफसोस वही हमारी चाहत से बेखबर निकला..!!
>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>

फरेब था हम आशिकी समझ बैठे,
मौत को अपनी ज़िंदगी समझ बैठे,
वक़्त का मज़ाक था या बदनसीबी,
उनकी दोस्ती की दो बातों को,
हम प्यार समझ बैठे.
========================

कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है!
मगर धरती की बेचैनी को बस बादल समझता है!
मैं तुझसे दूर कैसा हूँ, तू मुझसे दूर कैसी है!
ये तेरा दिल समझता है या मेरा दिल समझता है!

एक टिप्पणी भेजें

 
Top