कंजूस राम की फ़ीस माफ़ी की अनोखी एप्लीकेशन Kanjus Ram ki fees maafi ki anokhi application

सेवा में,
        प्रिंसिपल महोदय जी,
        फालतु टाइमपास स्कूल,
          दिल की नगरी.
 

श्रीमान जी,
         मैं आपके स्कूल कि नालायक क्लास में पढ़ता हूँ. कल मैंने मेरे पापा से स्कूल की फीस देने के लिए 500 रुपए लिए थे. दोस्तों के साथ फिल्म देखने में 100 रुपए लग गए. 150 रुपए पार्टी - सार्टी में खर्च हो गए. 50 रुपए से गर्लफ्रेंड का रिचार्ज करवाना पड़ा. मुझे शक था कि साईंस वाली मैडम का चक्कर इंग्लिश वाले मास्टर जी से है. इसलिए मैंने अपने दोस्तों से शर्त लगा ली लेकिन बाद में पता चला कि उसका चक्कर तो आप से है. इसलिए मैं बचे हुए 200 रुपए शर्त में हार गया. अब हम दोनों के पास सिर्फ दो रास्ते है - एक फीस माफ़ और दूसरा पर्दाफास.

सोच लो.

आपका खर्चीला शिष्य,

 कंजूस राम