विवाह के नौ अजीबोगरीब रीति-रिवाज Vivah ke 9 ajibogarib ritirivaj

प्रिय दोस्त, शादी एक ऐसा जरिया है जो एक लड़का और एक लड़की को पूरी उमर साथ - साथ रहने की अनुमति प्रदान करता है. शादी करने के रीति-रिवाज सभी जगह अलग - अलग पाए जाते है. आइये आज शादी के कुछ अजीबोगरीब रीति-रिवाजो के बारे में जानते है.


विवाह के नौ अजीबोगरीब रीति-रिवाज -
  1. स्कॉटलैंड के कुछ हिस्सों में दुल्हन बनने वाली युवती के मुंह पर शादी के पहले जबरन कालिख पोत दी जाती है। वे इस प्रथा से इंकार भी नहीं कर सकती क्योंकि वहां पर शादी करने के पूर्व इस प्रथा से गुजरना अनिवार्य माना जाता है।
  2. स्वीडन में विवाह के बाद रिसेप्शन के समय दुल्हे और दुल्हन एक साथ खाना खाते हैं। यदि खाना खाने के बाद दूल्हा पहले हाथ धोने जाता है तो पार्टी में मौजूद हर व्यक्ति दुल्हन को किस करता है। इसके विपरीत यदि दुल्हन पहले हाथ वॉश करने जाती है तो पार्टी में मौजूद सभी महिलाएं दूल्हे को किस करती हैं।
  3. अफ्रीका के कुछ गांवों में शादी की पहली रात्रि को नवविवाहित जोड़े के साथ गांव की एक वृद्ध महिला (अधिकतया दुल्हन की मां) रहती है जो उन्हें पति-पत्नी के संबंधों के बारे में बताती है।
  4. भारत में किसी लड़की के मांगलिक दोष होने पर उसका विवाह किसी पेड़ या देव प्रतिमा के साथ करवा दिया जाता है। इस विवाह के बाद ही उस लड़की का विवाह किसी सुयोग्य लड़के के साथ किया जाता है। मान्यता है कि ऎसा करने पर वह मांगलिक दोष से मुक्त होकर सुखी वैवाहिक जीवन बिताती है।
  5. चीन के मंगोलिया प्रांत में विवाह के पहले भावी दूल्हा-दुल्हन एक साथ चाकू पकड़ते हैं और जिंदा चूजे को एक साथ काटते हैं। इसके बाद उस चूजे का दिल निकाल कर देखा जाता है। यदि वह अच्छा दिखता है तो माना जाता है कि भावी दंपत्ति का वैवाहिक जीवन सुखी रहेगा। ऎसा नहीं होने पर उन्हें फिर से इसी प्रथा को तब तक दोहराना होता है जब तक कि उन्हें अच्छा दिल नहीं मिल जाता।
  6. फ्रांस के कुछ हिस्सों में शादी की पहली रात्रि को दूल्हे और दुल्हन के परिजन नवविवाहित जोड़े के कमरे के बाहर खड़े होकर जोर-जोर से बर्तन बजाने लगते हैं। वे लोग नवविवाहित कपल को चिढ़ाने की हरसंभव कोशिश करते हैं यहीं नहीं दूल्हे-दुल्हन को इस पूरे कार्यक्रम के बाद उपस्थित सभी लोगों को पार्टी भी देनी होती है। 
  7. जूते दो, पैसे लो। अगर आपने हम आपके है कौन फिल्म देखी है तो आपको उसका गाना जूते दो पैसे लो जरूर याद होगा। जी हां, यह हिन्दू विवाह की एक प्रचलित रीति है जिसमें दुल्हन की बहनें दूल्हे के जूते चुरा लेती है और दूल्हे के द्वारा पैसे देने पर ही वापिस करती हैं।
  8. दक्षिण सूड़ान की कुछ जनजातियों में किसी भी विवाह को तब तक सामाजिक सहमति नहीं मिलती जब तक कि उन दोनों के दो बच्चे नहीं हो जाते। यदि दम्पत्ति ऎसा कर पाने में असफल रहते हैं तो वे अपनी शादी को खारिज घोषित कर सकते हैं।
  9. अफ्रीका के कांगो में माना जाता है कि यदि आपने किसी शादी में कॉमेडियन को आमंत्रित किया है तो आप उसके वैवाहिक जीवन को बर्बाद कर रहे हैं। वहां पर शादी को बेहद ही गंभीर उत्सव माना जाता है और दूल्हे-दुल्हन को किसी भी स्थिति में हंसने की इजाजत नहीं है। ऎसा करने पर विश्वास किया जाता है कि उनकी शादी जल्द ही टूट जाएगी।
आमतौर पर क्रिश्चियन शादी में दुल्हन का सफेद ड्रेस पहनना अनिवार्य माना जाता है। हालांकि दुनिया के सभी हिस्सों में सफेद रंग को वैवाहिक कार्यक्रमों के लिए उपयुक्त नहीं माना जाता और ईसाई इसे शोक का रंग भी मानते हैं। अठारहवीं सदी में इंग्लैंड की महारानी द्वारा पहली बाद विवाह समारोह में सफेद रंग की ड्रेस का चयन किया गया जो बाद में धीरे-धीरे एक अनिवार्यता बन गया। यदि दुल्हन चाहे तो वह सफेद रंग के बजाय अन्य रंगों की ड्रेसेज भी पहन सकती है। - See more at: http://www.patrika.com/article/do-you-know-these-10-strange-wedding-traditions-in-the-world/50768?seq=10#sthash.Abm1WaTz.dpuf

एक टिप्पणी भेजें