भारत को एक स्वच्छ और विकसित देश बनाए Bharat ko ek swachchh aur viksit desh banaaye

Android apps:- 9 Apps
महात्मा गांधी जी ने जिस भारत का सपना देखा था उसमे सिर्फ राजनितिक आजादी ही नही थी बल्कि एक स्वच्छ और विकसित देश भी शामिल था. उन्होंने देश को गुलामी की जंजीरों से आजाद करवाया और हमें एक हरा-भरा भारत दिया. इस आजादी को पाने के लिए हमारे कई बहादुर जवान शहीद हो गए थे.
.
 

क्या अब हमारा ये कर्तव्य नहीं बनता है कि हम अपने भारत देश को गंदगी से दूर रखकर सुन्दर बनाये और भारत माता की देह को साफ़ सुथरा रखें? सभी का जवाब होगा - हाँ. परन्तु इस कार्य को करने के लिए हमें स्वयं मेहनत करनी होगी. यदि हम स्वयं यह निर्णय ले लेंगे कि हमें भारत को गंदगी से दूर रखना है तो दुनियां की कोई भी ताकत हमारे भारत देश को गंदा नहीं कर सकती है.

इसी कार्य को हमेशा ध्यान में रखने के लिए हमारे देश के प्रधानमंत्री डी. एन. मोदी जी ने गांधी जी के जन्म दिवस को स्वछता दिवस में बदल दिया है और आने वाले समय में इसे इस नाम से भी मनाया जाएगा....

इस दिन को मनाने के लिए लोग इस दिन को ली जाने वाली शपथ के बारे में इंटरनेट , अख़बार , TV आदि में जानकारी ढूंढ़ते है इसलिए आज हम आप सभी के लिए स्वछता शपथ लेकर आए है. हमें उम्मीद है कि आप इस शपथ को पढ़कर इस पर अमल भी करेंगे.

हमें इस सपथ को लेने से पहले ये भी निश्चित करना है कि हर रोज कम से कम  20 Min. का समय अपने आस-पास के क्षेत्र की सफाई में लगाना जरुरी है.

स्वछता शपथ  (swachhta pledge) - मै शपथ लेता हूँ कि मैं ना गंदगी करूँगा ना किसी अन्य को करने दूंगा. मैं स्वयं से, मेरे परिवार से, मेरे मोहल्ले से, मेरे गांव से और मेरे कार्यक्षेत्र से सफाई की शुरुआत करूँगा. मैं यह मानता हूँ की दुनिया के जो भी देश स्वच्छ दिखते है उसका कारण है की वहां के नागरिक गंदगी नही करते और न ही होने देते है. इस विचार के साथ मैं गांव-गांव इसकी गली-गली स्वच्छ भारत मिशन के तहत सफाई करूँगा और सफाई करने का ज्ञान बाटूंगा. मैं आज जो सपथ ले रहा हूँ , ये अन्य 100 लोगों को भी दिलवाऊंगा. जिससे वे भी मेरी तरह स्वच्छता के लिए काम करेंगे और मैं भी उनके साथ ज्यादा स्वच्छता का प्रयास करूँगा. मुझे पता है की स्वच्छता की तरफ बढ़ाया गया मेरा एक कदम मेरे पुरे भारत देश को सुन्दर और स्वच्छ बनाने में मदद करेगा। 

Download apps:- 9 Apps

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2016 Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BY BLOGGER.COM