दांतों की बिमारी पायरिया का घरेलू इलाज Danton ki bimari payriya ka gharelu ilaz

दोस्तों पायरिया एक दाँतों में होने वाली बिमारी है। पायरिया होने पर मनुष्य के दाँतों में अधिक दर्द होने लगता है। इंसान दर्द से इतना परेशान हो जाता है कि दांत निकलवाने तक की नौबत आ जाती है। पायरिया बिमारी दाँतों को समय पर साफ न करने और किसी वस्तु का सेवन करने के बाद दाँतो को साफ न करने की लापरवाही से होती है।


पायरिया की बीमारी का उपचार:-
  • टमाटर और गाजर का रस निकालकर पीने से दाँतों यह बीमारी ठीक हो जाती है।
  • सरसों की 2 या 4 बूंदों में बारीक़ नमक की चुटकी डालकर मंजन करें।
  • थोड़ी सी फिटकरी भूनकर इसको बारीक़ पीस कर इसमें हल्दी मिलाकर इसका चूर्ण तैयार कर ले । इस चूर्ण को रोजाना मंजन के रूप में करने से मसूड़े का खून आना बंद हो जायेगा| और दाँत भी साफ हो जायेंगे ।
  • दाँतों को अधिक साफ करने के लिए तेजपात का चूर्ण तैयार करके इस चूर्ण को सप्ताह में एक या दो बार करने से दाँत बिल्कुल दूध के भाती सफेद या चमकते हुए दिखाई देंगे |
  • तुलसी के पत्तों को धुप में सुखाकर बारीक़ पीसकर इसमें सरसों का तेल डालकर लेप बना ले। इस लेप को अपने हाथों की ऊँगली या ब्रश पर लगाकर मंजन करने से पायरिया की शिकायत ख़त्म हो जाती है। मुँह से बदबू भी दूर हो जाती है।
  • दाँत हिलते हो तो आम के पत्तों को रोजाना चबाकर कुछ समय बाद थूक दे। ऐसा कुछ दिन करने से दाँत हिलने बंद हो जाएंगे।
  • दाल और चीनी का तेल निकालकर लगाने से दाँतों के दर्द से आराम मिलता है।
  • अमृत धारा में रुई को गिला करके दर्द वाले स्थान पर लगाने से भी दर्द में काफी आराम मिलता है।
  • दन्त पीड़ा को ख़त्म करने के लिए नौसादर का चूर्ण दर्द वाले स्थान पर मसलने से दन्त पीड़ा ख़त्म हो जाती है।
  • पायरिया जैसी बीमारी को ठीक करने के लिए सुबह उठकर अपने दाँतों को साफ करने के बाद काले तिल खाए। कुछ समय बाद पानी पिए। यह क्रिया रात्रि को सोने से पहले भी किया जा सकता है। रोजाना करने से पायरिया की बीमारी दूर हो जाएगी और दन्त पीड़ा भी ठीक हो जायेगा।

एक टिप्पणी भेजें