0
मुँह में छालें निकलना एक आम बीमारी है। ये बीमारी गर्मियों के मौसम में अधिक संख्या में पाई जाती है। यह बिमारी काफी दर्द पहुचाने वाली बिमारी है। इसको ठीक करने के लिए आप घर में रखी चीजों का इस्तेमाल कर सकते है। आयुर्वेद के द्वारा बताई गई इस विधि से इन छालों को ठीक किया जा सकता है।


मुह के छालों का इलाज -
  • मेथी का उपयोग मुँह के छालों, तथा मसूड़े की समस्या के लिए भी बहुत ही उपयोगी सिद्ध होता है । मेथी का काढ़ा हमारे मुँह से जुडी बीमारी को ठीक करने के लिए अधिक लाभदायक होता है।
  • मुँह के छालों को ठीक करने के लिए बिल्कुल सरल , आसान और सस्ता तरीका यह है कि किसी भी गाय के दूध की दही की छाछ बनाकर इस  छाछ की प्रतिदिन २ से ३ बार कुल्ला (गरारा) करने से मुँह के अंदर के सभी छालें जड़ से ख़त्म हो जाएंगे तथा छाछ हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। इसलिए छाछ का उपयोग करने से मुँह की और दूसरी बीमारी भी ठीक हो जाती है।
नोट :- छालें होने पर मनुष्य को गर्म वस्तु का सेवन कम से कम करना चाहिए और पेट में कब्ज न बनने दे। बल्कि छालें होने पर ठंडी वस्तु का उपयोग अधिक से अधिक करना चाहिए। ठंडी वस्तुए छालों के लिए आरामदायक होती है। 

एक टिप्पणी भेजें

 
Top