For Smartphone and Android
Click here to download

Breaking News

क्या आप खोज रहे है कमर दर्द का घरेलू उपचार Kya aap khoj rahen hai kamar dard ka upchar

आज केवल वृद्ध ही नहीं बल्कि हर युवा भी किसी न किसी शारीरिक या मानसिक बीमारी से ग्रस्त है। इन सामान्य दिखने वाली बेहद घातक बीमारियों में से ही एक है कमर दर्द। अगर आप कमर दर्द से परेशान हैं तो इससे बचने के लिए हम कुछ सुझाव लेकर आए है, इन्हें जरुर पढ़ें।


कमर दर्द के घरेलू उपचार -
  • 2 ग्राम दालचीनी का पावडर एक चम्मच शहद में मिलाकर दिन में दो बार लेते रहने से कमर-दर्द में आराम रहता है।
  • कमर दर्द पुराना हो तो शरीर को गर्म रखें और गरम वस्तुएं खाएं।
  • दर्द वाली जगह पर बर्फ़ का प्रयोग करना हितकारी उपाय है। इससे भीतरी सूजन भी समाप्त होगी। कुछ रोज बर्फ़ का उपयोग करने के बाद गरम सिकाई प्रारंभ कर देने के अनुकूल परिणाम आते हैं।
  • भोजन मे टमाटर,गोभी,चुकंदर,खीरा ककडी,पालक,गाजर,फ़लों का प्रचुर उपयोग करें।
  • नमक मिलें गरम पानी में एक तौलिया डालकर निचोड़ लें। पेट के बल लेटकर दर्द के स्थान पर तौलिये द्वारा भाप लेने से कमर दर्द में राहत मिलती है।
  • रोज सुबह सरसों या नारियल के तेल में लहसुन की तीन—चार कलियॉ डालकर (जब तक लहसुन की कलियाँ काली न हो जायें) गर्म कर लें फिर ठंडा कर इसकी कमर पर मालिश करें।
  • कढ़ाई में दो-तीन चम्मच नमक डालकर इसे अच्छे से सेक लें। थोड़े मोटे सूती कपड़े में यह गरम नमक डालकर पोटली बांध लें। कमर पर इसके द्वारा सेक करें।
  • नीचे रखी कोई वस्तु उठाते वक्त पहले अपने घुटने मोडें फ़िर उस वस्तु को उठाएं। ध्यान रखें की कमर पर किसी तरह का झटका ना लगने दें।
  • भोजन में पर्याप्त लहसुन का उपयोग करें। लहसुन कमर दर्द का अच्छा उपचार माना गया है।
  • गूगल कमर दर्द में अति उपयोगी घरेलू चिकित्सा है। आधा चम्मच गूगल गरम पानी के साथ सुबह-शाम सेवन करें।
  • चाय बनाने में 5 कालीमिर्च के दाने, 5 लौंग पीसकर और थौडा सा सूखे अदरक का पाउडर डालें। दिन मे दो बार पीते रहने से कमर दर्द में लाभ होता है।
  • सख्त बिछोने पर सोयें। औंधे मुंह और पेट के बल सोना हानिकारक है।
  • खाने वाला चुना (एक चने के बराबर) लेकर पानी से सुबह शाम लें।
  • अजवाइन को तवे के ऊपर थोड़ी धीमी आंच पर सेंक लें तथा ठंडा होने पर धीरे-धीरे चबाते हुए निगल जाएं। लगातार 7 दिनों तक यह प्रयोग किया जाए तो आठवे दिन से कमर दर्द में लाभ होता है।
  • जहां दर्द होता होता है हो वहाँ 5 मिनट तक गरम सेंक, और दो मिनट ठंडा सेंक देने से तत्काल लाभ पहुंचता है।
  • सुबह सूर्योदय के समय 2-3 मील लंबी सैर पर जाने वालों को कमर दर्द की शिकायत कभी नहीं होगी।
  • नियमित रूप से चक्रासन करें।
सावधानियां नीचे लिखी बातों का भी जरुर ध्यान रखें।
  • नियमित रूप से पैदल चलें। यह सर्वोत्तम व्यायाम है।
  • अधिक समय तक स्टूल या कुर्सी पर झुककर न बैठें।
  • शारीरिक श्रम से जी न चुराएँ। शारीरिक श्रम से मांसपेशियां पुष्ट होती हैं।
  • एक ही मुद्रा में न तो अधिक देर तक बैठे रहें और न ही खड़े रहें।
  • किसी भी सामान को उठाने या रखने में जल्दबाजी न करें।
  • भारी सामान को उठाकर रखने की बजाय धकेल कर रखना चाहिए।
  • ऊंची एड़ी के जूते-चप्पल के बजाय साधारण जूते-चप्पल पहनें।
  • सीढिय़ां चढ़ते-उतरते समय सावधानी बरतें।
  • कुर्सी पर बैठते समय पैर सीधे रखें न कि एक पर एक चढ़ाकर।
  • अधिक ऊंचा या मोटा तकिया न लगाएं। साधारण तकिए का इस्तेमाल बेहतर होता है।

कोई टिप्पणी नहीं