जानिये ब्लॉगर के पोस्ट और पेज में क्या अंतर है Janiye blogger ke post aur page me kya antar hai

मई 13, 2016
प्रिय दोस्त ब्लॉगर एक ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ आप अपना ब्लॉग फ्री में बना सकते हो और अपने पोस्ट लिखकर पुरे संसार में फैला सकते हो। ब्लॉगर पर हजारों लोगों ने अपने ब्लॉग बना रखें है। आप अपने लेख ब्लॉगर के पोस्ट और पेज दोनों पर लिख सकते है। लेकिन फिर भी इन दोनों में कई अंतर है।

 

कुछ दिन पहले मुझसे किसी विजिटर ने पोस्ट और पेज में अंतर पूछा तो मुझे लगा कि क्यों ना मैं अपने सभी विजिटर से इस विषय को शेयर करूँ। इसलिए आज मैं इस पोस्ट के माध्यम से आपको ब्लॉगर के पोस्ट और पेज में अंतर बता रहा हूँ।

ब्लॉगर के पोस्ट और पेज में निम्नलिखित अंतर है -
  1. पेज का प्रयोग करके आप हैडर में मेन्युबार बना सकते है और ज्यादा जरुरी बातें यहाँ शेयर कर सकते है। आप इनके साथ about me , contact us आदि पेज बना सकते हो और इन्हें मेन्यूबार के रूप में ब्लॉग के हैडर पर दिखा सकते हो।
  2. पेज कभी भी आपके Archive gadget में दिखाई नहीं देता है। New Post / Older Post लिंक भी पेज को नहीं दिखा सकते है। आपके पेज RSS feeds में भी नहीं दिखते है।
  3. आप पेज पर jump-break feature का प्रयोग नहीं कर सकते है इस feature के कारण ही लेबल और होम पेज पर कई पोस्ट एक साथ दिखाएँ जाते है और लेख का थोड़ा सा हिस्सा दिखाकर Read More का बटन दिखाया जाता है। यह आप्शन बहुत महत्पूर्ण है अत: इसका प्रयोग करने के लिए अपने लेख post के माध्यम से लिखें।
  4. आप पेज पर Labels gadget का प्रयोग नहीं कर सकते है इस feature के कारण ही लेखों को category wise सेट किया जाता है। यह आप्शन भी बहुत महत्पूर्ण है अत: इसका प्रयोग करने के लिए अपने लेख post के माध्यम से लिखें। 
  5. यदि आप अपने लेख ब्लॉगर से डाउनलोड करने के लिए Export कमांड का प्रयोग करते है तो याद रखिये इससे आप केवल पोस्ट ही एक्सपोर्ट कर सकते हो। यह आप्शन भी बहुत महत्पूर्ण है अत: इसका प्रयोग करने के लिए अपने लेख post के माध्यम से लिखें। 
  6. आप जब भी कोई नया पोस्ट लिखते है और उसे publish करते है तो यह अपने आप होम पेज पर दिखाई देता है लकिन नया लिखा गया पेज कभी भी होम पेज पर दिखाई नहीं देगा और उस पर विजिटर को पहुँचाने के लिए उसका लिंक स्वयं अपने ब्लॉग के किसी हिस्से में लगाना पड़ेगा। यदि आप चाहते है कि आपके लिखे गए लेख के लिंक अपने आप ही आपके पोस्ट में add हो जाएँ तो अपने लेख post के माध्यम से लिखें।
  7. यदि आप अपने ब्लॉगर ब्लॉग पर रिलेटेड पोस्ट का विजेट प्रयोग करते है या करना चाहते है तो यह जरुर जान ले कि इस विजेट में केवल वहीँ पोस्ट दिखाई देते है जिन पर लेबल add किया जाता है। आप पेज पर लेबल add कर ही नहीं सकते तो सीधी सी बात है कि पेज कभी भी रिलेटेड पोस्ट्स विजेट में दिखाई नहीं देगा।
  8. यदि आपका कोई लेख ज्यादा लम्बा है और इसे लिखने के लिए आपको कई पृष्ठों की जरुरत है और आप नहीं चाहते की इसके लिए कई पोस्ट लिखें जाएँ तो आप एक पोस्ट लिखकर लेख के बाकि हिस्से के लिए पेज का प्रयोग कर सकते हो और पेज का लिंक अपने पोस्ट के footer में डाल सकते हो ताकि विजिटर बाकी लेख पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें और पेज पर पहुँच जाएँ। आप किसी विषय पर कई पेज लिखकर इन सब के लिंक एक पोस्ट पर डालकर भी इस कार्य को पूरा कर सकते हो।

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »
loading...


Free App to Make Money




Free recharge app for mobile
Click here to download