रतन टाटा के अनमोल विचार हिंदी में Ratan ke Anmol vichar - Hindi Quotes of Ratan Tata

मई 28, 2016
रतन टाटा भारत के सबसे सफल और प्रसिद्ध उघमियों में गीने जाते है। भारत सहित पूरे विश्व में जानी जाने वाली टाटा कंपनी जो नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक का निर्माण करती है इसकी कामयाबी का श्रेय बहुत हद तक इनको ही जाता है। वर्तमान में वे भारत के सबसे बड़े व्यापारिक समूह ‘टाटा समूह’ के अध्यक्ष है।


आइये आज हम उनके कुछ अनमोल विचारों को जानते हैं:
  1. मैं कभी भी सही निर्णय लेने पर विश्वास नहीं करता। मैं निर्णय ले कर, उसे सही साबित करने में विश्वास करता हूं।
  2. जीवन में आगे बढ़ते रहने के लिए उतार-चढ़ाव का बड़ा ही महत्व है। यहां तक कि ई.सी.जी. (ECG) में भी सीधी लकीर का अर्थ- मृत माना जाता है।
  3. उन सारे पत्थरों को अपने पास रख लें, जिसे लोग आप पर फेकते हैं और उन पत्थरों का प्रयोग एक मजबूत स्मारक बनाने में करे।
  4. लोहे को कोई नुकसान नहीं पहूंचा सकता लेकिन यह कार्य उसका अपना ही जंग (Rust) कर सकता है। वैसे ही किसी व्यक्ति को कोई नष्ट नहीं कर सकता सिवाय उसकी अपनी मानसिकता के।
  5. हम सभी के पास समान योग्यता नहीं है लेकिन हमारे पास अपनी प्रतिभा को विकसित करने के लिए समान अवसर है|
  6. अगर आप तेज चलना चाहते है तो अकेले चलिए। लेकिन अगर दूर तक जाना चाहते है तो साथ-साथ चलिए।
  7. मैं उन लोगों की प्रसंशा करता हूं जो बहुत सफल हैं। लेकिन अगर वह सफलता बहुत ज्यादा निर्ममता से हासिल हो तो मैं उस व्यक्ति की प्रसंशा तो करूँगा लेकिन इज्जत नहीं।
  8. जिन जीवन मूल्यों और नीतियों को मैं जीवन में जीता रहा, इसके अतिरिक्त मैं जो संपंदा अपने पीछे छोड़ना चाहता हूं वह यह है कि आप हमेशा जिस चीज को सही माने उसके साथ डट कर खड़े रहे और जहां तक संभव हो निष्पक्ष बने रहे।
  9. हो सकता कि मेरे निर्णयों से कई लोग दुःखी हो लेकिन मैं उस व्यक्ति के रूप में पहचाना-जाना चाहता हूं जिसने कभी किसी भी परिस्थिती में सही काम को सही ढ़ग से करने के लिए समझौता नहीं किया।
  10. मैं भारत के भविष्य और इसकी क्षमता को लेकर काफी आशान्वित हूं। यह बहुत महान देश है। इसमें बहुत क्षमता हैं।
  11. हर व्यक्ति में कुछ-न-कुछ विशेष गुण और प्रतिभा होती है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को अपने अंदर मौजूद गुणों और प्रतिभा का पहचानना चाहिए।
  12. हमें सफल व्यक्तियों से प्रेरणा लेनी चाहिए कि – अगर वे सफल हो सकते है तो हम क्यों नहीं? परंतु प्रेरणा लेते समय आंखे खुली रखनी चाहिए।
  13. मुझे आशा है, आज से सौ साल बाद टाटा उपक्रम बहुत बड़ा होगा और भारत में सबसे श्रेष्ठ उपक्रम होगा। श्रेष्ठ होगा, अपने काम करने के तरीकों के लिए, श्रेष्ठ होगा बेहतरीन वस्तुओं के उत्पादन के लिए और श्रेष्ठ होगा अपने नीति और व्यवहारकुशलता के लिए।
  14. अगर कोई भी कार्य जन-साधारण के मापदंड़ों पर खरा उतरता है तो उसे जरूर करे लेकिन अगर नहीं उतरता हो तो बिल्कूल न करे।
  15. वह व्यक्ति जो दूसरों की नकल करता है, कुछ समय के लिए तो सफल हो सकता है, परंतु जीवन में बहुत आगे नहीं बढ़ पाता।
  16. व्यक्ति को अपनी योग्यता और जीवन की परिस्थितियों के अनुसार अवसर एवं चुनौतियों की पहचान करनी चाहिए।
  17. उस दिन जिस दिन मैं उड़ने के योग्य न रहूंगा वह दिन मेरे लिए सबसे मायूस दिन होगा।
  18. विश्व के करोड़ों लोग मेहनत करते है लेकिन सबको इसका फल अलग-अलग प्राप्त होता हैं। इन सब के लिए मेहनत जिम्मेदार हैं। इसलिए मेहनत से मत भागीए, मेहनत करने के तरीको में सुधार लाइए।
  19. मैं हमेशा लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए कहता हूं। कहता हूं कि लोग प्रश्न पूछे जो अभी तक पूछे नहीं गए हैं, नए विचारों को आगे रखे, नये आईडिया पर विमर्श करे ताकि दुनिया को और बेहतरीन बनयाया जा सके।
  20. किसी भी कार्य को पूर्ण करने की समय-सीमा होनी चाहिए और वे ही कार्य करना चाहिए जिसे करने में आनंद आता हो।

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »
loading...


Free App to Make Money




Free recharge app for mobile
Click here to download