मुंह के छाले होने के कारण और परहेज Munh ke Chhale Hone ke karan aur parhej

आज कल ये समस्या आम बात है कि मुंह में हर किसी को छाले पड़ने लगते हैं। आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको मुंह में छाले होने के कारण और छाले होने पर किए जाने वाले परहेज की जानकारी दे रहे है। दोस्तों दवा के साथ परहेज जरुरी है इसलिए इसे अवश्य पढ़े...

इसके कुछ मुख्य कारण इस प्रकार हैं -
  1. कई बार तो अधिक मानसीक तनाव से भी यह तकलीफ हो सकती है।
  2. इस तरह की तकलीफ अमूमन ज़्यादा गरम और तेज मसालों वाला खाना खाने से अधिक होती है।
  3. कई बार पेट ठीक से साफ न होने के कारण भी पेट में गर्मी और गैस जमा हो जाने से मुंह में छाले पड़ते हैं।
  4. ज्यादातर बुखार आने से भी मुंह में छाले पड़ सकते हैं। और गला इन्फ़ैकशन से लाल हो जाता है।
  5. दाँत और मसूड़ों की सही सफाई ना रखने पर भी मुंह में बैक्टीरिया डेरा डाल सकते हैं।
  6. दाँत में से फंसा खाना निकालने से या सख्त ब्रश से दाँत साफ करने से ज़ख्म लग जाने से भी मुंह में छाले पड़ सकते हैं।जिनमें सूजन के कारण दर्द भी रहता है।
  7. पाचनतंत्र की खराबी और कब्ज से भी मुंह में छाले पड़ सकते है, और जीवा पर दर्द भरे दाने उभर आते है,
  8. शरीर में vitamin B की कमी हो जाने पर भी यह तकलीफ हो जाती है।
  9. शरीर में iron की कमी से भी मुंह में गर्मी लगने का बड़ा कारण हो सकता है।
मुंह के छाले होने पर कुछ परहेज निम्न हैं -
  1. अगर तनाव है तो भी मुंह में छाले पड़ सकते है। तनाव कम करने का उपाय करें।
  2. सबसे पहले यदि आप धूम्रपान और खैनी गुटखा खाते है, तो उसे तुरंत खाना बंद करें।
  3. तीखा और ताला हुआ मसालेदार खाना कम कर दें हो सके तो कुछ समय के लिए बिलकुल छोड़ दें।
  4. कुछ समय के लिए अधिक ठंडी और गरम चीजे खाना बंद करें।
  5. कम्प्युटर के सामने कम बैठें। और धूप में कम जाएं।
  6. कम से कम दिन में दो बार ब्रश करें। (सुबह उठने के बाद और सोने के पहले।
  7. जितना हो सके पानी अधिक मात्रा में पीने का प्रयास करें।
  8. विटामिन बी कॉम्प्लेक्स की गोली भी खा सकते हैं। (MBBS Doctor की सलाह से)
  9. ब्रश हमेशा मुलायम धागों वाला ही ईस्त्माल करें। (ताकि मसूड़े छिलें नहीं।)
  10. मुंह में दुर्गन्ध और मसूड़ों में सूजन रहती हों तो उसका तुरंत ईलाज करें।
अंत में, मैं कहना चाहूँगा कि आप इन नुस्खों को अपना कर अपने मुंह के छाले ठीक कर सकते हैं। किन्तु किसी भी सलाह को अपनाने से पहले किसी डॉक्टर या आयुर्वेदिक विशेषज्ञ की सलाह लेना बेहतर होगा।

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM