24/07/2016

हम अपने रिश्तों की दूरियां कैसे ख़त्म करें Rishton ki duriya kaise khatma karen

loading...

अक्सर हमने देखा है कि दूर के रिश्ते ज्यादा सफल या कारगर साबित नहीं हो पाते हैं। रहने के स्थानों में दूरियों के साथ ही दिलों में भी दूरियां आ जाती हैं और जैसे-जैसे समय बीतता जाता है ये दूरियां अपने प्यारे रिश्तों में बढती जाती हैं। ऎसा होने की खास वजह है कि लोग दूर के रिश्ते में अपनी भावनाओं को जाहिर करने में विफल हो जाते हैं।

पास रहकर रिश्तों में अपनी भावनाओं को मेल-मुलाकातों, चुंबनों और आलिंगन के द्वारा जाहिर किया जा सकता है लेकिन जब बात दूर के रिश्ते की हो तब क्या किया जाए। अगर आप भी दूर के रिश्ते में हैं तो नीचे दिए गए कुछ आसान से टिप्स अपनाएं और रिलेशन को टूटने से बचाएं।

रिश्तों की दूरियां ऐसे ख़त्म करें :-
  • सबसे पहले ये जरुर ध्यान रखें कि बिना बजह शक न करें।
  • एक-दूसरे पर हमेशा विश्वास बनाए रखें।
  • एक समय निर्धारित करें जिसमें रोजाना आप एक-दूसरे से बात करें।
  • अपने हमदम के लिए टाइम निकालें और अचानक से उनके पास पहुंचकर उन्हें सरप्राइज करें।
  • उन्हें रोज रात को सोने से पहले कॉल या मैसेज जरुर करें।
  • उनसे उनकी होल डे एक्टिविटी के बारे में पूछें और अपनी एक्टिविटी भी बताएं।
  • वीडियो चैट करें, ई-मेल करें। जितना हो सके एक-दूसरे के कॉन्टेक्ट में रहें।
  • जब भी आप वीडियो चैट करें तो इसे एक डेट के रूप में लें।
  • कोशिश करें जब आपका पार्टनर सुबह सो कर उठे और अपना सेल देखे तब उसे आपका प्यार भरा संदेश मिले।
  • अपने संवादों में "आई लव यू, आई मिस यू" वाक्यों का भरपूर प्रयोग करें।
  • उन्हें अपने कमिटमेंट का भी एहसास कराएं।
  • अच्छे से तैयार हों उनके लिए फ्लॉवर्स लें।
  • इससे आपके प्यार का एहसास आपके हमदम के दिल और दिमाग में हमेशा कायम रहेगा।
  • अपने दिलबर पर हमेशा सकारात्मक सोच रखें।
  • कई कार्ड भेज कर उसे अपनी भावनाओं के जीवंत रूप दें।
  • हैंडमेड ग्रीटिंग्स, लव लेटर, कार्ड, गिफ्ट्स, चॉकलेट्स, कविताओं को भी उन तक पहुचाएं।
  • अपने पार्टनर के सेल में रोमांटिक मैसेज ड्रॉप करें।
  • एक-दूसरे से कॉन्टेक्ट करने में लंबा अंतराल न रखें।
  • याद रखें कि ये महज कुछ समय की ही दूरी है, जीवन भर की नहीं।

हम अपने रिश्तों की दूरियां कैसे ख़त्म करें Rishton ki duriya kaise khatma karen Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Satish Kumar

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें