loading...

0
बहन लगाती तिलक, फिर मिठाई है खिलाती;
भाई देता पैसे और बहन है मुस्कुराती;
भाई-बहन का ये रिश्ता न पड़े कभी लूज
मेरे प्यारे भैया मुबारक हो आपको भाई दूज।

हैप्पी भाई-दूज!

************************



न सोना न चांदी
न कोई हाथी की पालकी
बस मेरे से मिलने आओ भाई
प्रेम से बने पकवान खाओ भाई

हैप्पी भाई-दूज!

************************

हे ईश्वर बहुत प्यारा हैं मेरा भाई
मेरी माँ का दुलारा हैं मेरा भाई
न देना उसे कोई कष्ट भगवन
जहाँ भी हो ख़ुशी से बीते उसका जीवन

हैप्पी भाई-दूज!

************************

बहन करती हैं भाई का दुलार
उसे चाहिये बस उसका प्यार
नहीं करती किसी तौहफे की चाह
बस भाई को मिले खुशियाँ अथाह..

हैप्पी भाई-दूज!

एक टिप्पणी भेजें

loading...


Free App to Make Money




Free recharge app for mobile
Click here to download
 
Top