loading...

0
प्रिय दोस्त आज हम आपके लिए एक ऐसी जानकारी लेकर आए है जिसमे आपको बताया जाएगा कि यदि कोई व्यक्ति सो रहा है तो आपको उसे जगाना चाहिये या नहीं। कुछ लोग ऐसे होते है जिन्हें नींद से नहीं जगाना चाहिये और कुछ लोग या परिस्थियाँ ऐसी भी होती है जिनमें आपको सोए हुए व्यक्ति को तुरंत जगा देना चाहिये।

इन लोगों को नींद से तुरंत जगा देना चाहिए...

आचार्य चाणक्य ने बताया है कि किसी भी व्यक्ति के जीवन शिक्षा का बहुत अधिक महत्व है। इसी वजह से शिक्षा ग्रहण करते समय अधिक से अधिक समय अभ्यास ही करना चाहिए। अत: यदि कोई विद्यार्थी परीक्षा के समय सो रहा है तो उसे तुरंत उठा देना चाहिए ताकि वह अभ्यास ठीक से कर सके। विद्यार्थी सोता रहेगा तो वह परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हो सकता है।

चाणक्य के अनुसार यदि कोई नौकर काम के समय सो रहा हो तो उसे तुरंत जगा देना चाहिए, अन्यथा कार्य पूर्ण नहीं हो सकेगा।

यदि कोई राहगीर या यात्री रास्ते में सोता दिखाई दे तो उसे भी उठा देना चाहिए, अन्यथा उसका सामान चोरी होने का भय रहता है। यात्री को सोता देख कोई चोर उसके धन को चुरा सकता है या अन्य कोई हानि पहुंचा सकता है। यात्री सोता रहेगा तो वह अपनी यात्रा पूर्ण नहीं कर सकेगा।

यदि कोई व्यक्ति भूखा है तो उसे जगा देना चाहिए और उसे भोजन देना चाहिए। भूखा व्यक्ति सोता रहेगा तो उसे शारीरिक कष्ट झेलना पड़ सकते हैं, वह बीमार हो सकता है।

यदि कोई व्यक्ति नींद में डर रहा है तो उसे भी तुरंत उठा देना चाहिए ताकि उसका भयानक सपना टूट जाए और उसे शांति मिले।

किसी भण्डार गृह का रक्षक या कोई चौकीदार अपने कर्तव्य के समय सोते दिखे तो इन्हें भी तुरंत जगा देना चाहिए। भण्डार गृह का रक्षक या चौकीदार के सोने पर चोरी होने का भय बना रहता है। साथ ही, जन हानि होने की भी संभावनाएं रहती हैं।

इनको नींद से जगाना नहीं चाहिए...

यदि कोई मूर्ख व्यक्ति सो रहा है तो उसे सोने देना चाहिए। जगाने का प्रयास भी नहीं करना चाहिए। यदि मूर्ख व्यक्ति जाग जाएगा तो हमारे लिए परेशानियां बढ़ सकती हैं। बुद्धिहीन व्यक्ति बेकार की बातों से हमारा समय नष्ट करता है और वे कभी-कभी बिना विचारे ही ऐसे काम देते हैं, जिनसे हमें किसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। अत: इन्हें जगाना नहीं चाहिए। जब तक ये सोते रहेंगे, हम सुखी रहेंगे।

यदि कहीं कोई सांप सो रहा हो तो उसे छेड़ना नहीं चाहिए। सभी जानते हैं कि सांप को छेड़ने पर मृत्यु का संकट उत्पन्न हो सकता है। अत: सोते हुए सांप को बिना छेड़े ही वहां से निकल जाना चाहिए।

यदि कोई राजा या बड़ा अधिकारी, मंत्री या कोई वरिष्ठ सो रहा हो तो उसे जगाने का प्रयास नहीं करना चाहिए। ऐसे लोगों को जगाने पर वे नाराज हो सकते हैं। पुराने समय में तो राजा को अकारण जगाना भयंकर अपराध माना जाता था, इस अपराध का दंड बहुत भयानक होता था।

यदि कहीं सोता हुआ शेर दिखाई दे तो उसे भी छेड़ने का प्रयास नहीं करना चाहिए। शेर इंसानों को देखते ही झपट पड़ते हैं। अत: सोते हुए शेर को जगाए बिना ही वहां से निकल जाना चाहिए।

यदि कोई छोटा बच्चा सो रहा हो तो उसे भी जगाना नहीं चाहिए। छोटे बच्चे जागने के तुरंत बाद रोते हैं, जिन्हें चुप कराना सिर्फ उनकी मां के लिए ही संभव है। अन्य कोई व्यक्ति रोते हुए बच्चे को आसानी से शांत नहीं करवा सकता है। छोटे बच्चे के लिए सोना बहुत जरूरी होता है, अत: उसके स्वास्थ्य की दृष्टि से भी उसे जगाना नहीं चाहिए।

यदि हम किसी व्यक्ति के घर गए हैं और वहां कोई कुत्ता है तो उसे छेड़ना नहीं चाहिए। यदि वह सो रहा है तो उसे सोने ही दें, क्योंकि कुत्ते अजनबी लोगों को देखकर काटने का प्रयास करते हैं।

यदि किसी स्थान पर कोई हिंसक पशु सो रहा है तो उसे भी छेड़ने का प्रयास नहीं करना चाहिए। हिंसक पशु कभी भी इंसान पर हमला कर सकता है, जिसे संभाल पाना बहुत मुश्किल होता है।

एक टिप्पणी भेजें

loading...


Free App to Make Money




Free recharge app for mobile
Click here to download
 
Top