माइकेल डी मान्तेन के अनमोल विचार Michel de Montaigne ke anmol vichar

इस पोस्ट पर आप माइकेल डी मान्तेन (Michel de Montaigne) के अनमोल विचार पढ़ सकते है। वे फ़्रांसिसी पुनर्जागरण के सबसे प्रभावी लेखक थे। माना जाता है कि उन्होंने ही निबंध को साहित्य की एक विधा के रूप में प्रचलित किया था। उन्हें आधुनिक संशयवाद का जनक भी माना जाता है।


माइकेल डी मान्तेन (मिशेल डी मोंटैगने) के अनमोल विचार:-
  • अगर कोई मुझसे पूछे कि मैं दूसरे व्यक्ति को पसंद क्यों करता हूँ, तो इसका मेरे पास कोई जवाब नहीं है। मै सिर्फ इतना कह सकता हूं कि मैं, मैं हूँ और वो, वो है।
  • अच्छी शादी एक अंधी पत्नी और बहरे पति के बीच ही हो सकती है ।
  • अज्ञानता एक ऐसा कोमल तकिया है, जिस पर हर व्यक्ति सिर रखकर आराम कर सकता है।
  • कुदरत जिस तरीके से चलती है, उसे उसी तरीके से आगे बढ़ने दे। क्योंकि कुदरत को क्या करना है, कैसे करना है, यह कुदरत से बेहतर कोई नहीं जानता है।
  • जिन चीजो के बारे में सबसे कम जानकारी होती है, उन चीजो में हम सबसे ज्यादा यकीन करते है।
  • जिन चीजो को आप भूलना चाहते है, वे सभी चीजे सदा याद रहती है।
  • जिस चर्चा में हर व्यक्ति किसी एक बात के पक्ष में होता है, उसी चर्चा में सबसे ज्यादा बोरियत महसूस होती है।
  • जो लोग अपने जीवन की तुलना किसी सपने के साथ करते है, वे सभी लोग सही है। क्योंकि हम सोते वक़्त जागते है और जागते वक़्त सोते है।
  • जो व्यक्ति अपनी बातों पर अड़ा रहता है और उन्हें सही साबित करने में जूटा रहता है। उससे ज्यादा मुर्ख और बेवकूफ व्यक्ति दुनिया में कोई नहीं है।
  • जो व्यक्ति बीमारी या बुरी परिस्थिति को लेकर डरता है, दरअसल वह उसी डर में जीता है।
  • ज्यादातर लोगो में डर का होना ही सबसे बड़ा डर होता है।
  • झूठ बोलने पर जितना नुकसान दुसरो का होता है, उससे ज्यादा नुकसान झूठ बोलने वाले व्यक्ति को होता है।
  • दिलेरी ही किसी व्यक्ति की सबसे बड़ी खूबी होती है।
  • दुनिया में कोई चीज शादी की जितनी खूबसूरत है, तो वह इसलिए क्योंकि उस रिश्ते में प्यार से ज्यादा महत्वपूर्ण दोस्ती है।
  • दुनिया में सबसे बड़ा शैतान या अजूबा कोई है, तो वह मनुष्य खुद है।
  • दुसरो की मदद चाहिए तो उनकी मदद करे, लेकिन खुद के प्रति पूरी तरह से समर्पित रहे। खुद को अपना 100 फीसदी ही दे।
  • मनुष्य यह बखूबी जानता है कि वे किन चीजो से बच रहा है या दूर भाग रहा है, लेकिन वह यह नही जानता कि वह किस चीज की तलाश में है।
  • यह दिमाग ही है जो अच्छा-बुरा, दुःख-ख़ुशी और अमीर-गरीब बनाती है।
  • सबसे अच्छा व्यक्ति वही है जो कई काम करने की योग्यता रखता है।
  • समझदार व्यक्ति अगर खुद को जानता है तो वह जीवन में कभी किसी चीज को खो नहीं सकता है।
  • समझदार व्यक्ति उतना ही देखता है जितना वह चाहता है। वह उतना नहीं देखता, जितना वह देखना चाहता है।
  • हर व्यक्ति के जीवन में खौंफनाक घटनाएं होती है और हकीकत यह है कि इनमे से कुछ घटनाएं कभी घटती ही नहीं है यानी यह घटनाएं मनुष्य के दिमाग में होती है।

एक टिप्पणी भेजें

© Copyright 2013-2017 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BYBLOGGER.COM