जानिए लोग दौड़ते घोड़ों की तस्वीर अपने घरों या दफ्तरों में क्यों लगाते है - Dodte ghodo ki tasvir ka raaj

जानिए लोग दौड़ते घोड़ों की तस्वीर अपने घरों या दफ्तरों में क्यों लगाते है - Dodte ghodo ki tasvir ka raaj - नमस्कार दोस्तों, आपने अक्सर कई घरों में दौड़ते हुए घोड़ों की तस्वीर लगी हुई देखी होगी परन्तु क्या आपने कभी इस बारे में सोचा है कि लोग ऐसा क्यों करते है। आइये आज हम आपको इस रहस्य के बारे में जानकारी देते है।

दोस्तों दौड़ते घोड़ों की तस्वीर अपने घरों या दफ्तरों में लगाकर कोई भी सफलता की सीढ़ी आसानी से तय कर सकता हैं। ऐसा माना जाता है कि इससे घर में सुख – समृद्धि और लक्ष्मी का वास होता है.

यदि कोई व्यक्ति अपने जीवन में सफलता चाहता है तो उसे हासिल करने के लिए उस इंसान को ऊर्जावान भी होना पड़ेगा। यहाँ उर्जावान का मतलब है स्वस्थ होना। अगर कोई भी इन्सान ऊर्जा से भरपूर हैं और उसमे कार्य करने की क्षमता है तो सफलता उसके कदम चूमेगी, इसमें कोई संदेह नहीं है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर कोई व्यक्ति अपने घर या दफ्तर में दौड़ते हुए घोड़ो की तस्वीर लगाते हैं, तो यह उसके कार्य में गति प्रदान करता है। दौड़ते हुए घोड़े सफलता, प्रगति और ताकत के प्रतीक होते हैं।  खासकर 7 दौड़ते हुए घोड़े व्यवसाय की प्रगति का सूचक माने गए हैं, क्योंकि शास्त्रों के अनुसार 7 अंक सार्वभौमिक है, प्राकृतिक है।

ध्यान देने वाली बात है कि इंद्रधनुष के रंग 7 होते हैं, सप्त ऋषि भी हुए है, शादी में भी सात फेरे, सात जन्म का मेल इत्यादि इसलिए 7 नंबर को प्रकृतिक और सार्वभौमिक माना गया है। इसलिए सात घोड़ों की तस्वीर को सर्वोतम माना गया है।

एक टिप्पणी भेजें