शारीरिक संबंधों में ज्यादा दिलचस्पी महिलाओं की होती है - Kaam ichchha purushon ki apeksha mahilao ki jyada hoti hai

शारीरिक संबंधों में ज्यादा दिलचस्पी महिलाओं की होती है - Kaam ichchha purushon ki apeksha mahilao ki jyada hoti hai - दोस्तों शायद आप ये सोचते होंगे कि शारीरिक संबंधों में ज्यादा दिलचस्पी महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों की होती है और महिलाएं केवल पुरुषों का सहयोग करती हैं. ऐसा भी माना जाता है कि महिलाओं के अंदर सैक्सइच्छा का स्तर बहुत कम होता है इसीलिए वह केवल अपने साथी की खुशी के लिए ही शारीरिक संबंध बनाती हैं.


परन्तु समय के साथ-साथ धारणाओं और मानसिकता में बदलाव लाना भी जरूरी होता है इसीलिए अगर अब तक आप महिलाओं के विषय में ऐसी ही धारणा रखते थे तो आपको अपडेट होने की आवश्यकता है, क्योंकि हाल ही में हुआ एक अध्ययन कुछ और ही बयां कर रहा है.

यूकेमेडिक्स द्वारा संपन्न एक ऑनलाइन अध्ययन के अनुसार दुनियाभर के पुरुष अपनी महिला साथी की अपेक्षा इस काम में फिसड्डी साबित हो रहे हैं और महिलाएं अपने पुरुष साथी पर भारी पड़ रही हैं, जबकि पहले शारीरिक संबंधों के मामले में हमेशा पुरुष ही आगे रहते थे.

इस अध्ययन में दुनिया के विभिन्न देशों ने भाग लिया जिसमें यह प्रमाणित हुआ कि लगभग 62 प्रतिशत पुरुष अपनी महिला साथी की अपेक्षा इस क्षेत्र में पिछड़ते जा रहे हैं. उल्लेखनीय है कि सर्वे में शामिल हर तीसरे पुरुष का कहना था कि उनकी सैक्सइच्छा में कमी आने लगी है, जिसकी वजह से वह हर समय संबंध बनाने से बचने के बहाने तलाशते रहते हैं.

वहीं एक अन्य सर्वेक्षण के अनुसार यह तथ्य सामने आया है कि पुरुषों में यौनसंतुष्टि का आंकड़ा 38 से घटकर 27 रह गया है. इतना ही नहीं एक बेहद चौंकाने वाला तथ्य कि 4 में से एक पुरुष अपनी महिला साथी के साथ संबंध ही नहीं बना रहा है. सर्वेक्षण के अनुसार पुरुषों में कम हो रही सैक्सइच्छा के कारण दंपत्तियों के आपसी संबंधों में दूरी आने लगी है और महिलाओं में संबंधों के प्रति इसी असंतुष्टि के कारण तलाक के मामलों में बढ़ोत्तरी होने लगी है.

एक टिप्पणी भेजें