प्रभु जब मैं घोड़ी पर चढ़ रहा था तब आपका गला बैठ गया था क्या? - Shadi ki pareshani mast joke

बेरा नहीं लोग इतना मिल बाट के कयूकर खा
ले है
..
मन्नै ते समोसे दो हिस्से करे पाच्छे दूसरे का
समोसा भी फालतू लागण लाग ज्या है
****************

रोज-रोज पत्नी की झिक-झिक से परेशान कुल्लू अपना सामान बांधते हुए...

पत्नी से बोला, ‘अब तो मैं तेरे साथ एक पल भी नहीं रहूंगा।’
.
घर छोड़कर कुल्लू रेलवे स्टेशन गया।
.
कुल्लू ट्रेन में चढ़ने लगा तभी आकाशवाणी हुई,-- ‘इसमें मत चढ ,ये पटरी से उतर जाएगी।’
.
कुल्लू एयरपोर्ट गया। वह प्लेन में चढ़ने लगा कि आवाज आई,--- ‘इसमें मत चढ़ यह क्रैश हो जाएगा।’
.
कुल्लू ने बस में जाने का सोचा। बस में चढ़ने से पहले फिर आवाज आई,-- ‘इसमें मत चढ़, यह खाई में गिर जाएगी।
.
कुल्लू गुस्से से बोला, ‘कौन है यार?’

आवाज आई, ‘मैं भगवान हूं!
.
कुल्लू रोते हुए बोला,-- ‘प्रभु जब मैं घोड़ी पर चढ़ रहा था तब आपका गला बैठ गया था क्या?

एक टिप्पणी भेजें