क्या और क्यों दान करें शनि के बुरे प्रभाव से बचने के लिए?

शनिवार के दिन इस ग्रह से संबंधित दान, पूजा व मंत्र जप से शनि की दशा, या साढ़ेसाती के समय शनि का अशुभ प्रभाव कम हो जाता है। अशुभ शनि को शुभ बनाने के लिए लोहे व काले उड़द के दान का ज्योतिष के अनुसार विशेष महत्व है।

 

लेकिन शनि को प्रसन्न करने के लिए काला उड़द ही क्यों चढ़ाते हैं कोई और धान क्यों नहीं? दरअसल इसका कारण यह है कि ज्योतिष में हर ग्रह के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए उस ग्रह की रंग, प्रकृति और स्वभाव के अनुसार एक धान बताया गया है। जिसके दान से उस ग्रह का दोष कम हो जाता है।

इसीलिए अशुभ शनि को शुभ बनाने के लिए काले उड़द का दान अच्छा माना गया है क्योंकि इस धान की प्रकृति शनि के अनुसार ही है। शनि काले हैं शनि की प्रकृति वायुकारक है और इस धान की प्रकृति भी ऐसी ही है। इसीलिए शनि के लिए इस धान को चुना गया है।

एक टिप्पणी भेजें