For Smartphone and Android
Click here to download

Breaking News

नए मटके की पूजा क्यों करना चाहिए? Nayaa matka kyo puja jata hai?

गर्मी का मौसम आ गया है। गर्मीयों की चिलचिलाती धूप में ठंडा पानी गर्मी से सबसे ज्यादा निजात दिलाता है। आजकल अधिकतर लोग गर्मी में ठंडे पानी के लिए फ्रिज पर निर्भर है लेकिन कुछ लोग गर्मीयों में ठंडे पानी के लिए मिट्टी से बने मटकों का उपयोग ही ज्यादा अच्छा मानते हैं।

शास्त्रों के अनुसार घर में लाए गए मटके का पूजन करना चाहिए क्योंकि मटके को कलश मानते हैं।


कलश के मूल में ब्रह्म का, कंठ में रूद्र यानी शिव का और मुख में विष्णु का निवास माना जाता है। कलश पूर्णता का प्रतीक होता हे। जिस घर में कलश की पूजा होती है। उस घर में सुख-समृद्धि और शांति रहती है। साथ ही जल को वरूण देवता का रूप मानते हैं और जल को प्रत्यक्ष देवता भी कहा गया है।

इन्हीं मान्यताओं के कारण गर्मीयों में पानी के मटके को कलश मानते हुए उसका पूजन किया जाता है ताकि उसका पानी पीने वाले के लिए अमृत के समान कार्य करें।

मटके के पानी के सेवन से गर्मी में कई तरह की बीमारियों से बचा जा सकता है। जबकि फ्रीज के पानी से गले से संबंधित परेशानियां होने लगती है। इसीलिए यह परंपरा बनी रहे और लोग मटके के पानी का उपयोग हमेशा करते रहे। इसी उद्देश्य से नए मटके की पूजा की जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं