24/06/2017

टूटी -फूटी क्रॉकरी घर में क्यों नहीं रखना चाहिए? Tuti futi krokri ghar me naa rakhen

loading...

आपके घर में क्रॉकरी बता देती है कि आप किस स्तर का जीवन व्यापन कर रहे हैं। इसी वजह से आजकल डिजाइनर क्राकरी का क्रेज बढ़ रहा है। इसी क्रेज के चलते कई घरों में पुराने या टूटी -फूटी क्रॉकरी में संभालकर अलग रख दी जाती हैं, जो कि अशुभ माना जाता है। इससे घर में दरिद्रता बढ़ती है और कई तरह की हानि उठाना पड़ती है।

 

हमेशा से ही इस बात पर जोर दिया जाता है कि घरों में टूटी -फूटी क्रॉकरी नहीं रखनी चाहिए, ना ही कभी ऐसी क्राकरी में चाय नहीं पीनी चाहिए या खाना नहीं खाना चाहिए। इस संबंध में धार्मिक तथ्य यह है कि ऐसा करने से ईश्वर की कृपा प्राप्त नहीं होती। जो व्यक्ति टूटी -फूटी क्रॉकरीज में चाय या कॉफी पीने से या भोजन करने से उससे लक्ष्मी रूठ जाती है और उसके घर में दरिद्रता पैर पसार लेती है। ऐसा होने पर कई प्रकार के आर्थिक संकटों का सामना करना पड़ता है।

ऐसी क्रॉकरी को वास्तुशास्त्र में भी अशुभ माना गया है। जिस घर में ऐसी क्राकरी रखी जाती है वहां वास्तुदोष रहता है। ऐसे में वास्तुदोष दूर करने के लिए बहुत से अन्य उपाय करने के बाद भी यह दोष दूर नहीं होता है। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा सक्रीय हो जाती है। घर से सभी टूटी -फूटी, बेकार क्रॉकरी को दूर कर देना चाहिए। इससे वास्तु दोष समाप्त होता है और घर में सब अच्छा होने लगता है।

बेकार क्रॉकरी में चाय या कॉफी लेने से या नाश्ता करने से हमारे विचार नकारात्मक बनते हैं। जैसे क्रॉकरी में चाय या कॉफी हैं हमारा स्वभाव भी वैसा ही बन जाता है। इसी वजह से अच्छे और साफ क्रॉकरी में चाय या कॉफी पीए या खाना खाएं। इससे आपके विचार भी शुद्ध होंगे और सकारात्मक ऊर्जा का शुभ प्रभाव आप पर पड़ेगा।

टूटी -फूटी क्रॉकरी घर में क्यों नहीं रखना चाहिए? Tuti futi krokri ghar me naa rakhen Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Satish Kumar

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें