Header Ads

Breaking News

Ads

यदि करना है पूरा गाड़ी और घर का सपना, तो करें ये उपाय - Do these solutions

यदि करना है पूरा गाड़ी और घर का सपना, तो करें ये उपाय - Do these solutions

आज सावन का चौथा सोमवार है. आज सावन के शुक्ल पक्ष की अष्टमी भी है. आज के दिन दुर्गा अष्टमी भी मनाई जाती है. इसलिए ये सोमवार बेहद शुभ और असाधारण माना जा रहा है.

 

आज अगर भक्त भगवान शंकर के साथ मां गौरी की पूजा करें तो उन पर असीम कृपा बरस सकती है. ज्योतिषशास्त्र विनोद मिश्र के अनुसार इस दिन सूर्योदय से लेकर दोपहर 2:29 तक शुभ नाम का विशिष्ट योग बन रहा है. इसके बाद 2:30 बजे से शुक्ल नाम का खास योग भी बन रहा है. जो पूजा-पाठ अनुष्ठान के लिए खास माना जाता है. सुबह 9:46 मिनट तक शेर की भांति शक्तिशाली बव नाम का करण रहेगा. इसके बाद चीते के समान शक्तिशाली बाल्व नाम का करण रहेगा. ये दोनों करण विजय के सूचक हैं.

इस विशिष्ट पर्व पर शिव और शक्ति का खास पूजन करने से शत्रुओं से छुटकारा मिल सकता है तथा गाड़ी-बंगले की इच्छा भी पूरी हो सकती है. ज्योतिषशास्त्र के अनुसार चन्द्रमा कुण्डली के चौथे भाव का प्रतिनिधित्व करता है. चौथा भाव गाड़ी-बंगले और माता का प्रतीक माना जाता है. जिस किसी व्यक्ति की कुण्डली में चौथा भाव कमजोर है या बलहीन है, उन लोगों को विशेष पूजन से शीघ्र अति शीघ्र गाड़ी-बंगले की प्राप्ति हो सकती है.

पूजन विधि:

सावन के चौथे सोमवार को सफेद शिवलिंग की पूजा करें. साथ ही गौरी और चन्द्रमा का पूजन भी करें. सबसे पहले शिवलिंग और गौरी को जल अर्पित करें. दूध में शहद मिलाकर शिव और गौरी का अभिषेक करें. शिवलिंग पर बिल्व पत्र और गौरी पर सफेद रंग के फूल अर्पित करें. फिर शिवलिंग पर चंदन से त्रिपुण्ड बनाएं. देवी गौरी पर चंदन से लेप लगाएं. दूध से बना कोई भी मिष्ठान शिव और गौरी को अर्पित करके बांट दें. तथा इस मंत्र का जाप करें.

मंत्र: ह्रीं गौरीशंकराय नमः ह्रीं॥

इस मंत्र का उच्चारण करते हुए चांदी का एक चौकोर टुकड़ा गौरी और शिवलिंग पर स्पर्श करवाकर किसी पारदर्शी कांच की बोतल में डालकर गंगा जल भरकर घर की उत्तर पश्चिम दिशा में छिपा कर रख दें. अगले सावन तक आपके बंगले व गाड़ी की इच्छा जरूर पूरी होगी.