For Smartphone and Android
Click here to download

Breaking News

सास के साथ भी कुंडली मिलाती है लड़कियां - Horoscope matching with mother-in-law

सास के साथ भी कुंडली मिलाती है लड़कियां - Horoscope matching with mother-in-law

पंडित विवेक शास्त्री जी बताते हैं कि लड़कियां आजकल सिर्फ लड़के से ही नहीं आपनी सास के साथ भी अपनी कम्पेटिबिलिटी चैक करती हैं। उनका कहना होता हैं कि लड़के के साथ तो एडजस्टमेंट हो ही जाता हैं लेकिन सास के साथ सोच का मिलना कभी-कभी थोड़ा मुश्किल होता है।



विवाह के पहले सास- बहू की कुंडली का मिलान करके लोग गृह कलह से बचना चाहते हैं। दरअसल महिलाएं घर में पुरूषों के मुकाबले ज्यादा समय बिताती हैं। ऐसे में अगर उनका स्वभाव आपस में नहीं मिलता है तो आपस में मनमुटाव हो सकता है।

सिर्फ लड़कियां ही नहीं लड़के वाले भी आजकल कुंडली का मिलान करवाते समय अक्सर पूछते हैं कि लड़की घर- परिवार के लिए कैसी हैं। ये पूछने के पीछे उन्हें ये डर बना रहता है कि कहीं उनकी होने वाली बहु से पति के आलावा घर के अन्य सदस्यों का स्वभाव न मिलने पर वो उनके बेटे को उनसे अलग न करवा दे।

कुंडली का मिलान इसलिए भी लोग करवा रहे हैं क्योंकि उन्हें लगता हैं कि सास से नेचर नहीं मिलने पर कहीं उनका रिश्ता न टूट जाएं।

अक्सर लड़कियां ससुराल में भी मां ढूंढती हैं। शादी से पहले लड़कियां अक्सर टेंशन फ्री रहती हैं। अपनी हर परेशानी को वो अपनी मां से शेयर करती हैं। हांलाकि शादी के बाद भी वो ऐसा कर पाएंगी कि नहीं ये सवाल उनके लिए बेहद अहम होता हैं इसलिए भी वो कुंडली मिलवाकर अपने इस सवाल का जवाब पहले ही जान लेना चाहती हैं।

कोई टिप्पणी नहीं