For Smartphone and Android
Click here to download

Breaking News

यदि Physical relationship बनाने के दौरान दर्द नहीं हुआ तो क्या लड़की वर्जिन नहीं है?

यदि Physical relationship बनाने के दौरान दर्द नहीं हुआ तो क्या लड़की वर्जिन नहीं है?

कई पुरूषों का ऐसा सोचना है कि महिलाएं जब पहली बार शारीरिक संबंध बनाती हैं तो उन्‍हें यो#नि से रक्‍त निकलता है और ये उनके वर्जिन होने की पहचान होती है। लेकिन सच कहा जाएं तो ये सिर्फ एक गलत धारणा है।



इसके अलावा, पुरूष ऐसा भी मानते हैं कि अगर किसी लड़की या महिला को शारीरिक संबंध बनाने के दौरान दर्द नहीं हुआ है तो वह वर्जिन नहीं है।

वैसे, हर महिला का शरीर अलग होता है और उसी के हिसाब से वो शारीरिक संबंधो के दौरान प्रतिक्रिया देती है। कई महिलाओं को पहली बार शारीरिक संबंधो में दर्द होता है और कईयों को खून भी निकलता है लेकिन ये वर्जिनिटी का सबूत नहीं होता है।

इस बारे में कुछ तथ्‍य निम्‍न प्रकार हैं...
  1. पहली बार सेक्‍स के दौरान खून, हाइमन के फटने की वजह से निकलता है जोकि एक प्रकार की झिल्‍ली होती है। यह झिल्‍ली, महिला के प्राईवेट पार्ट पर चढ़ी रहती है।
  2. पुरूषों को यह नहीं मालूम होता है कि कुछ लड़कियों का जन्‍म बिना हाइमन के ही होता है और इस वजह से भी उन्‍हें पहली बार सेक्‍स के दौरान खून नहीं निकलता है।
  3. कई महिलाओं की हाइमन, खेल गतिविधियों जैसे साइकिल चलाना, स्‍वीमिंग करना आदि के कारण भी फट जाती है।
  4. जरूरी नहीं है कि जिसे रक्‍त नहीं निकला है उसे दर्द भी न हो। उसे दर्द हो भी सकता है और नहीं भी। लेकिन ये सब वर्जिनटी के प्रुफ नहीं है।
  5. कुछ महिलाओं को पहली बार सेक्‍स के दौरान रक्‍त आ जाता है लेकिन उन्‍हें दर्द नहीं होता है। ये भी नहीं दर्शाता है कि वो वर्जिन हैं या नहीं।
  6. कुछ महिलाओं में, हाइमन, हस्‍तमैथुन की वजह से भी फट जाती है। जबकि कुछ में ये बिना कारण भी क्रेक हो जाती है।
  7. बिना इंटरकोर्स के भी कई बार महिलाओं की हाइमन फट जाती है। दौड लगाने वाली लड़कियों की हाइमन बहुत कम आयु में ही फट चुकी होती है।

कोई टिप्पणी नहीं