Header Ads

Breaking News

Ads

राशी से जानिये किसी का भी स्वभाब, रहिये ज़रा बच के

किसी व्‍यक्‍ित को देखे बिना उसके बारे में जानना है तो उसके नाम नाम का पहला अक्षर पता कर लें। और फिर उसकी राशि से उसका स्‍वभाव भी जान जाएंगे.....

 

मेष राशि - मेष राशि के लोग गलत और गलत और सही को सही कहने में जरा भी नहीं हिचकिचाते। उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि लोग उनके बारे में क्या सोचेंगे। वे किसी भी हाल में अन्याय को बर्दाश्त नहीं कर पाते। हालांकि इन्हें कई बार अपने किए पर पछतावा भी होता है लेकिन वो कहते हैं ना कि ‘अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गई खेत’। इस राशि के लोग बौत हद तक सिर्फ और सिर्फ अपने बारे में ही सोचते हैं।

वृषभ राशि - वृषभ राशि के लोग जिद्दी और सख्त मिजाज होते हैं। आप कह सकते एक मनुष्य जितना सख्त हो सकता है वृषभ राशि के लोग उतने होते हैं। भले ही वह महिला है या पुरुष, अगर वे वृषभ राशि के हैं तो वे अपनी राय और मान्यताओं को लेकर काफी जिद्दी हैं। इन्हें अपना कमफर्ट और सम्मान के आगे और कुछ भी नजर नहीं आता। ये लोगों की मदद करने में हमेशा आगे रहते हैं।

मिथुन राशि - इस राशि के लोग समय की कीमत को नहीं मानते, इन्हें कभी आप टाइम पर नहीं पाएंगे। इन्हें परिवर्तन बहुत पसंद होता है, शायद ये दिमागी रूप से कंफ्यूज रहते हैं। तभी एक जॉब, एक स्थान यहां तक कि एक जीवनसाथी के साथ भी ये कफी समय तक नहीं रह सकते। ये लोग कुछ भी कर गुजर सकते हैं, इनकी इमैजिनेशन पॉवर बहुत तेज होती है।

कर्क राशि - कर्क राशि के लोग बहुत ज्यादा संवेदनशील होते हैं, जितनी ज्यादा संवेदना उतनी ही ज्याद अनिराशा। इस राशि के लोग अंदरूनी तौर पर बेहद निराशावान होते हैं। दुनिया को इनका एक अलग ही चेहरा नजर आता है लेकिन वास्तविक रूप में ये लोग निराशा के साये में हमेशा घिरे रहते हैं। इनके अंदर एक अजीब सा डर हर समय रहता है। कर्क राशि के लोग बहुत ज्यादा मूडी होते हैं, अगर कभी बिना किसी बात कोई आपसे बस यूं ही लड़ बैठे या बहस करने लगे तो जान लीजिए कि वह कर्क राशि के अलावा और कोई नहीं हो सकता। दरअसल ये लोग आपसे नहीं बल्कि अपने जीवन से ही निराश होते हैं।

सिंह राशि - धन को किस तरह और कितनी तेजी के साथ बर्बाद किया जा सकता है यह सिर्फ और सिर्फ सिंह राशि का व्यक्ति ही जानता है। इनके खर्च असीमित होते हैं और साथ ही इन्हें इस बात से कोई फर्क भी नहीं पड़ता कि इनकी कोई सेविंग नहीं है। अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति से विवाह करने की योजना बना रहे हैं जो सिंह राशि से संबंध रखता है तो एक बात आपको दिमाग में बैठा लेनी चाहिए कि सिंह राशि के लोगों के ,लिए संबंधों में ‘स्पेस’ का कोई अर्थ है ही नहीं।

कन्या राशि - कन्या राशि वाले व्यक्ति को कभी अपने अंदर खामी नजर नजर नहीं आती और यही उनकी सबसे बड़ी खामी भी है। उन्हें अपनी आलोचना सुनना बिल्कुल पसंद नहीं है, अगर कोई उन्हें कुछ कहता भी है तो उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। कन्या राशि के लोग चुप रहना पसंद करते हैं, इनके दिल की बात कोई नहीं जान सकता।

तुला राशि - तुला राशि के लोग बहुत ज्यादा आलसी माने जाते हैं। कई दिनों तक तो ये लोग बस प्लान बनते हैं और अंत में अपने आलस की वजह से उस प्लान को पूरा नहीं कर पाते। ये लोग सही समय पर सही निर्णय लेने में भी पीछे रह जाते हैं।

वृश्चिक राशि - वृश्चिक राशि के लोग ना तो किसी को बहुत जल्दी भूलते हैं और ना ही किसी को मांफ करते हैं। अगर कोई इनके साथ बुरा करता है तो वे उससे बदला लेने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। सच चहे कितना ही बुरा या कड़वा क्यों ना हो, वृश्चिक राशि के लोग सच कहना और सच सुनना ही पसंद करते हैं।

धनुराशि - धनुराशि का व्यक्ति अगर अपने परिवार के प्रति समर्पित नहीं है, उसे अपने निकटजनों के लिए कुछ नहीं करना तो वह एक बहुत अच्छा जुआरी होगा। जुए खेलने के स्थान और तरीके धनुराशि के व्यक्ति को कुछ इस तरह आकर्षित करते हैं जैसे हहद को देखकर मक्खी आकर्षित होती है। वे ये नहीं सोचते कि इससे उनका कितना नुकसान होगा, उन्हें जुआ खेलना है तो वे जरूर खेलेंगे। यही उनकी सबसे बड़ी कमजोरी या खामी है।

मकर राशि - मकर राशि के लोग दिखाते जरूर हैं कि दुनिया उनके बारे में क्या सोचती है, इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन अंदर ही अंदर ये लोग अपनी तारीफ सुनने के लिए तड़पते हैं। इन्हें खुद की तारीफ सुनना पसंद है और ऐसे लोग इन्हें जरा भी नहीं भाते जो इनकी आलोचना करते हैं।

कुंभ राशि - कुंभ राशी के जातक अलग स्वभाव के होते है। कुंभ राशि का जातक कभी किसी एक के प्रति समर्पित होकर नहीं रह सकता। एक समय के बाद इन्हें नए साथी की तलाश रहती ही है, चाहकर भी ये लोग किसी एक के साथ एक निर्धारित समय के बाद नहीं रह सकते।

मीन राशि - मीन राशि के जातकों को समस्याओं को सुलझाने से ज्यादा उस समस्या से भागने में मजा आता है। ये किसी भी बात को बड़े ही सकारात्मक रूप से लेते हैं, इन्हें दुनिया को अपनी ही नजर से देखना पसंद हैं। झूठ ही सही, लेकिन अगर उन्हें वो झूठ पसंद है तो वे सच जानने की जरूरत ही महसूस नहीं करते।