Header Ads

Breaking News

Ads

यहाँ पर लड़कों के साथ किया जाता है ये गन्दा काम

अफगानिस्तान एक ऐसा देश है जहां पर सामाजिक नृत्य में औरतों और लड़कियों पर बैन है, इस काम के लिए छोटे बच्चों का इस्तेमाल किया जाता है. यहां पर मनोरंजन के लिए 10 वर्ष से बड़े लड़कों को इस काम के लिए लड़कियों की तरह तैयार करके उनसे नाच करवाया जाता है.

 

इसके साथ उनको योनक के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है इस देश में लड़कियों पर जो धर्म की गंभीरता बताया जाता है, उसके पीछे का असल सच कुछ और ही है. दरअसल यहां पर लड़कियों की जगह लड़कों को सेक स्लव के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. इनको बुजर्गों की कामुक शांत करने के लिए बेचा जाता है.

बच्चाबाजी का मतलब होता है ” सेक स्व” यानी सेक गुलाम जिनका इस्तेमाल लड़कियों की जगह किया जाता है. अफगानिस्तान ही एक ऐसा देश है जहां पर छोटे लडको को बुजुर्गों की इच्छाओं को पूरा करने के लिए उनको बेचा जाता है.

लड़का जितना सुंदर और जवान होता है उसका रेट उतना ज्यादा होता है. लड़कों को लड़कियों की तरह तैयार करके उनको मार्किट में लोगों की संतुष्टि के लिए दिया जाता है. इसके पीछे एक वजह यहां की गरीबी भी है. अफगानिस्तान बाकी देशों के मुकाबले ज्यादा गरीब है इसलिए बच्चों को सेक स्व के तौर पर इस्तेमाल करते हैं.

ये बच्चे सामाजिक जगह पर नाच गाना करते है और फिर इनको लोग खरीद कर ले जाते हैं जैसे आम देशों में बार गर्ल यह काम करती हैं.